पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जींद:सीआरएसयू के सस्पेंड प्रो. बेरवाल के भविष्य का फैसला लिफाफे में बंद

जींद8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • असिस्टेंट व एसोसिएट प्रोफेसर के पदों पर सेलेक्टशन पर हंगामा का मामला
  • प्रो. बेरवाल पर भर्ती में बाधा पहुंंचाने, ईसी कमेटी सदस्यों से अभद्र व्यवहार करने के लगे थे आरोप

चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय के निलंबित प्रो. संदीप बेरवाल के भविष्य का फैसला रिपोर्ट बनाकर एग्जीक्यूटिव काउंसिल द्वारा गठित चार सदस्यीय हाई इंक्वायरी कमेटी ने लिफाफे में बंद कर वाइस चांसलर डॉ. राजबीर सोलंकी को सौंप दी है। इस रिपोर्ट में क्या है, इसका खुलासा आगामी एग्जीक्यूटिव काैंसिल की होने वाली बैठक में होगा। रिपोर्ट प्रो. बेरवाल के पक्ष में है या खिलाफ, यह मीटिंग में ही सदस्यों के सामने रखा जाएगा। रिपोर्ट के आधार पर ही आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

सीआरएसयू में चार अक्टूबर को फिजीकल एजुकेशन डिपार्टमेंट में असिस्टेंट व एसोसिएट प्रोफेसर के पदों के लिए इंटरव्यू लिए जा रहे थे। इसके लिए सब्जेक्ट एक्सपर्ट के तौर तीन सीनियर प्रोफेसर, गवर्नर नाॅमिनी, वूमन व रिजर्व कैटेगरी मेंबर बुलाए गए थे। इसमें आधे नंबर एकेडमिक और आधे नंबर इंटरव्यू के होते हैं। इंटरव्यू होने के बाद जब उम्मीदवारों के एकेडमिक नंबरों के लिफाफा खोला गया। दोनों नंबर मिलाकर जिन उम्मीदवारों का चयन किया गया, उन्हें लेकर प्रो. संदीप बेरवाल ने हंगामा कर दिया था और भर्ती में धांधली के आरोप लगाने लगे थे।

दूसरी ओर सब्जेक्ट एक्सपर्ट के आरोप थे कि प्रो संदीप बेरवाल ने उन पर भगत फूल यूनिवर्सिटी के कार्यरत उम्मीदवार के सेलेक्शन के लिए उन्हें फोर्स किया। जब उन्होंने उनकी बात नहीं मानी तो उनके साथ प्रो. बेरवाल ने दुर्व्यवहार करते हुए गाली-गलौज की। यहां तक कि यूनिवर्सिटी से बाहर निकलवाने पर जान से मारने की धमकी भी दी। कमेटी में शामिल पांचों सदस्यों ने वीसी को प्रोफेसर बेरवाल के खिलाफ दुर्व्यवहार व धमकी दिए जाने की शिकायत दी थी।

इसके अगले दिन 5 अक्टूबर को चौधरी रणबीर सिंह यूनिवर्सिटी में हंगामा करने और भर्ती में धांधली का आरोप लगाने वाले प्रोफेसर संदीप बेरवाल को एग्जीक्यूटिव कौंसिल की बैठक में सस्पेंड कर दिया गया था। तभी से यह सस्पेंड हैं। उसके बाद प्रो. बेरवाल विवि परिसर में धरने पर बैठ गए थे। कुछ दिन धरना देने के बाद उन्होंने धरना खत्म कर दिया था। इस मामले में अब गठित की गई चार सदस्यीय हाई इंक्वायरी कमेटी ने अपनी रिपोर्ट विवि के वाइस चांसलर को सौंप दी है। रिपोर्ट को ईसी की अगली बैठक में खोला जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ महत्वपूर्ण नए संपर्क स्थापित होंगे जो कि बहुत ही लाभदायक रहेंगे। अपने भविष्य संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने का उचित समय है। कोई शुभ कार्य भी संपन्न होगा। इस समय आपको अपनी काबिलियत प्रदर्...

और पढ़ें