हड़ताल / सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के चलते बिगड़ी सफाई व्यवस्था, आज पटरी पर लौटेगी

X

  • शहर में जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर, रात को रोड क्लीनिंग मशीन से किया काम

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

जींद. नगर परिषद के अंडर काम करने वाले पक्के व डीसी रेट पर लगे कर्मी और मार्केट कमेटी के तहत काम करने वाले कच्चे कर्मचारी दूसरे दिन भी मंगलवार को हड़ताल पर रहे। सभी ने नेहरू पार्क में धरना देकर रोष जताया। धरने की अध्यक्षता प्रधान कमला देवी ने की। दूसरे दिन भी सफाई न होने के कारण काॅलोनियों व मुख्य मार्गों पर व्यवस्था बिगड़ी नजर आई। 

हालांकि रात को नगर परिषद ने शहर के गोहाना रोड पर रोड क्लीनिंग मशीन चलाकर सफाई करवाई, लेकिन रात एक बजे तकनीकी दिक्कत आने के कारण काम बंद करना पड़ा। बुधवार से सभी कर्मचारी प्रतिदिन की तरह काम पर लौटेंगे। काॅलोनियों की गलियों की सफाई न होने के कारण जगह-जगह कूड़ा पड़ा नजर आया। पूरे जिले में लगभग 400 से अधिक कर्मचारी दो दिन से हड़ताल पर हैं। सफाई न होने के कारण लगभग दो दिनों से 50 टन कूड़ा नहीं उठ पाया।

जो कूड़ा पहले से ही कलेक्शन सेंटरों या फिर डोर टू डोर जाकर गाड़ियाें द्वारा एकत्र किया गया, उनको डंपिंग साइट पर डाला गया। आमतौर पर जींद शहर से प्रतिदिन 80 टन कूड़ा निकलता है। बुधवार से कर्मचारी हड़ताल खत्म कर वापस लौटेंगे, तब जाकर सफाई व्यवस्था पटरी पर वापस आएंगे। मंगलवार को दिए गए धरने पर सुरेश कुमार, राजेंद्र सिंह मौजूद रहे।

123 सफाई कर्मचारी दूसरे दिन भी धरने पर
अपनी मांगों को लेकर नगर परिषद नरवाना के अधीन आने वाले 123 सफाई कर्मचारी दूसरे दिन भी धरने पर रहे। इसके चलते शहर में सफाई व्यवस्था पूरी तरह से बिगड़ चुकी है। शहरवासियों ने कहा कि शहर में सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने की जिम्मेदारी प्रशासन की है।

कर्मचारियों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होंगीं, तब तक उनका धरना चलता रहेगा। शहरवासी अनिल, सुभाष सिंगला, प्रदीप, विकास, अमन मोर ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को धरने पर बैठे कर्मचारियों की मांगों पर संज्ञान लेकर उनके समाधान के कदम उठाने चाहिए ताकि शहर में सफाई व्यवस्था बनी रहे। यह धरना सचिव भूपेन्द्र की अध्यक्षता में चलाया गया। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना