• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Jind
  • The Gift Of Atal Park Will Be Available In January, The Construction Going On For Two Years Is In The Last Phase, Its Plan Was Made In 2014

नए साल की उम्मीद:जनवरी में मिलेगी अटल पार्क की सौगात, दो साल से चल रहा निर्माण अंतिम चरण में, 2014 में बनी थी इसकी योजना

जींद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगर परिषद द्वारा बनाए जा रहे अटल पार्क का काम लगभग पूरा, झूले आदि लगाए गए

शहर की महत्वपूर्ण परियोजना अटल पार्क के निर्माण का काम पिछले दो साल से ज्यादा समय से चल रहा है। अब इसका काम अंतिम चरण में है। उम्मीद है कि जनवरी में इसका काम पूरा हो जाएगा और उसके बाद इसका उद्घाटन करके जनता को समर्पित कर दिया जाएगा।

सितंबर 2019 में इस अटल पार्क की नींव तत्कालीन वन विकास निगम के चेयरमैन एवं नगर परिषद प्रधान के पति जवाहर सैनी ने रखी थी। अटल पार्क के निर्माण पर 5 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जानी है। यह एक साल में बनकर तैयार होना चाहिए था लेकिन कोरोना के चलते व बजट की कमी के कारण इसका काम अब तक पूरा नहीं हो सका है।

2018 में जमीन पशुपालन विभाग से नप को हस्तांतरित हुई
प्रशासन ने 2014 में चार एकड़ जमीन में अटल पार्क बनाने की योजना बनाई थी। इसके लिए चार एकड़ में गेहूं की फसल भी नष्ट की गई लेकिन पशुपालन विभाग ने इस जमीन पर पार्क बनाने पर रोक लगा दी। इसके बाद यह मामला लटका रहा और 2018 में यह जमीन पशुपाल विभाग से नगरपरिषद को हस्तांतरित हुई। इसके लिए नगर परिषद द्वारा चार करोड़ 96 लाख 87 हजार पशुपालन विभाग को दिए गए थे।

ऐसा होगा अटल पार्क

  • अटल पार्क कुल 39 कनाल 15 मरले जमीन पर बनेगा।
  • पार्क में घास व पेड़ों के साथ-साथ एक झील भी विकसित की जाएगी, जिससे लोग पार्क में पानी और फव्वारों के नजारे भी ले सकेंगे।
  • यहां कैंटीन की भी व्यवस्था की जाएगी।
  • पार्क में ग्रास ब्लॉक लगेंगे। यह सुविधा जींद में पहली बार किसी पार्क में की जाएगी।
  • पार्क में बच्चों के अच्छे झूलों वाला चिल्ड्रन कार्नर तैयार किया जाएगा
  • बड़ों के लिए पार्क में ओपन जिम की व्यवस्था भी की जाएगी।
  • पार्क में म्यूजियम भी स्थापित करने की योजना है।

पार्क का काम अंतिम चरण में
अटल पार्क का काम अंतिम चरण में चल रहा है। उम्मीद है कि जनवरी तक इसका काम लगभग पूरा हो जाएगा। -सुमित कुमार, एमई, नगर परिषद, जींद।

खबरें और भी हैं...