पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Jind
  • The Old Vegetable Line From Mandi Road To Udham Singh Chowk To Duck Chowk Was The First Buried Line, The Road Has Not Been Built Till Date.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अमरुत योजना:पुरानी सब्जी मंडी रोड से वाया उधम सिंह चौक से बतख चौक तक सबसे पहले दबी थी लाइन, आज तक नहीं बनी सड़क

जींद4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अटल मिशन फॉर रिज्युविनेशन एंड अर्बन ट्रांस फॉर्मेशन (अमरुत योजना) के तहत पिछले 30 माह से शहर की सड़कें खोदी जा रही हैं और फिर पाइप डालकर गड्ढों सहित छोड़ा जा रहा है, लेकिन न तो ठेकेदार और न ही नगर परिषद अधिकारियों ने खोदाई की गई सड़क व गलियों का दोबारा निर्माण करने का काम किया। अमरुत योजना के तहत 80 प्रतिशत से ज्यादा काम शहर में हो चुका है। 31 मार्च तक काम पूरा करने की डेडलाइन दी गई है।

जिन एरिया में दो-दो साल पहले सड़कें व गलियां खोदकर पाइप डाले गए थे, उनमें से कई सड़कों व गलियों का निर्माण आज तक नहीं हुआ, जबकि बाद में खोदी गई सड़कें व गलियां चकाचक तैयार कर दी गई हैं। दूसरे विभागों की क्या कहें, खुद नगर परिषद के अधीन आने वाली सड़कें और गलियों का निर्माण भी नहीं हो सका है। नए सिरे से टेंडर लगाने की बात कहकर दो साल से टाल-मटोल की जा रही है। अमरुत योजना के तहत सबसे पहले पुरानी सब्जी मंडी रोड से वाया उधम सिंह चौक होते हुए सागर होटल तक सड़क उखाड़कर पाइप लाइन दबाई गई, लेकिन ढाई साल बीतने के बाद भी सड़क निर्माण नहीं हुआ।

नियम के अनुसार खोदाई के बाद ठेकेदार को रि-स्टोरेशन करनी होती है, लेकिन सड़क की रि-स्टोरेशन में भी खानापूर्ति कर उन्हें छोड़ दिया गया। आज सड़कों पर गड्ढे बने हुए हैं। इसमें पैदल चलना भी दूभर है। दूसरों विभागों को जो रोड कट की राशि दी गई है, वह भी अब तक पूरे नहीं बने हैं। पीडब्ल्यूडी ने आज तक मिनी बाईपास (बस स्टैंड से रोहतक रोड), देवीलाल चौक से रोहतक रोड बाईपास, रेलवे रोड से पटियाला चौक तक सड़क निर्माण का काम नहीं किया है।

स्कीम नंबर-5, 6 का आज तक नहीं हुआ टेंडर
लगभग डेढ़ साल पहले स्कीम नंबर-5 व 6 में सड़क निर्माण के लिए टेंडर छोड़ा गया था, लेकिन ठेकेदार की मौत के बाद काम रुक गया। दोबारा टेंडर लगाया गया, लेकिन नप अधिकारियों ने अपने चहेतों को टेंडर देने के चलते दूसरी पार्टियों के टेंडर लेने में आनाकानी की, जिसकी शिकायत हुई। उसके बाद टेंडर रद्द कर दिया गया, लेकिन आज तक दोबारा टेंडर नहीं लग सका। इसके चलते कई मुख्य गलियां टूटी पड़ी हैं।

सीधी बात

भूपेंद्र अहलावत, एमई, नगर परिषद जींद

Q. मरुत योजना का काम होने के बाद भी सड़कें व गलियां अब तक नहीं बनी?
A. नगर परिषद की बैठक में इसके प्रस्ताव डाले जाएंगे, उसके बाद ही गलियां बनाई जाएंगी?
Q. क्या ठेकेदार की रि-स्टोरेशन की जिम्मेदारी नहीं थी?
A. कुछ जगह जहां रि-स्टोरेशन हो सकती थी, वहां ठेकेदार ने की है। बाकी जगह नए सिरे से निर्माण होगा।
Q. कब तक बची हुई सड़क व गलियों का निर्माण हो जाएगा?
A. कुछ के एस्टीमेट पहले के बने हुए हैं और कुछ बैठक में प्रस्ताव पास करने के बाद बनवाए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने के लिए प्रयासरत रहेंगे। घर में किसी नवीन वस्तु की खरीदारी भी संभव है। किसी संबंधी की परेशानी में उसकी सहायता करना आपको खुशी प्रदान करेगा। नेगेटिव- नक...

    और पढ़ें