गोगी गैंग का गुर्गा अंकित गोदू काबू:टिल्लू गैंग के बदमाश राधे की हत्या के बाद से था फरार, 15 से अधिक केसों में वांटेड

जींद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के जींद में पुलिस ने गैंगस्टर जितेंद्र मान ‘गोगी’ गैंग से जुड़े अंकित उर्फ गोदू को गिरफ्तार कर लिया। अंकित 11 अक्टूबर को नई दिल्ली के रोहिणी में विरोधी टिल्लू गैंग के बदमाश दीपक उर्फ राधे की हत्या के बाद से फरार था। पुलिस ने अंकित से 32 बोर की एक देसी पिस्तौल, 4 जिन्दा रौंद 32 बोर बरामद किए। रोहतक जिले में निंदाना गांव के रहने वाले अंकित पर हत्या, हत्या प्रयास, लूट, डकैती, किडनैपिंग और अवैध हथियारों के 15 से अधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने उसे शनिवार को जींद अदालत में पेश कर एक दिन के पुलिस रिमांड पर ले लिया।

पुलिस के अनुसार, गैंगस्टर जितेंद्र मान ‘गोगी’ और टिल्लू ताजपुरिया के गैंग के बीच लंबे समय से रंजिश चल रही है। हत्या और लूट समेत कई संगीन आपराधिक मामलों में नामजद जितेंद्र गोगी तिहाड़ जेल में बंद था। 24 सितंबर को एक मामले की सुनवाई के लिए दिल्ली पुलिस तिहाड़ जेल से गैंगस्टर ‘गोगी’ को लेकर दिल्ली की रोहिणी कोर्ट पहुंची। वहां टिल्लू गैंग के दो बदमाशों ने वकील के वेश में हाई सिक्योरिटी वाली रोहिणी कोर्ट के अंदर घुसकर दिनदहाड़े गोलियां मारकर जितेंद्र गोगी की हत्या कर दी। पुलिस की जवाबी फायरिंग में टिल्लू गैंग के दोनों बदमाश भी मारे गए। जितेंद्र मान ‘गोगी’ के गैंग ने अपने सरगना के कत्ल का बदला लेते हुए 11 अक्टूबर को रोहिणी के सेक्टर 16 में टिल्लू गैंग के दीपक उर्फ राधे नामक बदमाश को गोलियां मार दीं। राधे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। पुलिस का दावा है कि टिल्लू गैंग के बदमाश दीपक उर्फ राधे को गोलियां मारने वालों में अंकित भी शामिल था और वह उसके बाद से ही फरार चल रहा था।

पुलिस की गिरफ्त में अंकित उर्फ गोदू।
पुलिस की गिरफ्त में अंकित उर्फ गोदू।

लुदाना टोल प्लाजा के पास से पकड़ा
जींद सीआईए स्टाफ के इंचार्ज अनूप सिंह के अनुसार, उनकी एक टीम ललितखेडा गांव के बस अड्‌डे पर मौजूद थी। उसी समय सूचना मिली कि कई केसों में वांटेड निंदाना गांव का अंकित लुदाना गांव के टोल प्लाजा के पास खड़ा है और उसके पास असलहा भी है। सूचना मिलने के बाद सीआईए टीम ने रेड कर अंकित को दबोच लिया। पुलिस ने उनके खिलाफ पिल्लुखेड़ा थाने में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया।

अंकित उर्फ गोदू पर दर्ज केस
1.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 395/397 के तहत मुकदमा नंबर 40/2014.
2.जींद के जुलाना थाने में आईपीसी की धारा 395 के तहत मुकदमा नंबर 31/2014.
3.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 323/324/506/452/34 के तहत मुकदमा नंबर 193/2013.
4.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 323/324/506/452/34 के तहत मुकदमा नंबर 329/2013.
5.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 323/324/506/452/34 के तहत मुकदमा नंबर 180/2015.
6.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 323/324/506/452/34 के तहत मुकदमा नंबर 523/2015.
7.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 457/380 मुकदमा नंबर 270/2012.
8.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 457/380 के तहत मुकदमा नंबर 160/2012.
9.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 324/506 के तहत मुकदमा नंबर 464/2017.
10.भिवानी सदर थाने में आईपीसी की धारा 457/380 के तहत मुकदमा नंबर 457/2018.
11.झज्जर सदर थाने में आईपीसी की धारा आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 138/2018.
12.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 398/401 व आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 411/2018.
13.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 307/452/34 व आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 326/2018.
14.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 148/149/307/34 व आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 55/14.02.2020
15.रोहतक के महम थाने में आईपीसी की धारा 323/506/34 के तहत मुकदमा नंबर 490/04.10.2021 (गिरफ्तारी बकाया)
16.जींद के जुलाना थाने में आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 22/04.02.2018.
17.दिल्ली के रोहिणी थाने में आईपीसी की धारा 302/120बी और आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 448/12.10.2021.

खबरें और भी हैं...