बाइक और ट्रैक्टर की भिड़त:ट्रैक्टर की चपेट में आने से मां-बेटे की जान गई

खरखौदाएक महीने पहलेलेखक: आदित्य तिवारी
  • कॉपी लिंक
  • रभड़ा में जोत लगा बवाना स्कूटी से लौट रहे थे

गुरुवार की दोपहर को अपने पैतृक गांव से जोत लगाकर वापस बवाना लौट रहे मां-बेटे की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। एक ट्रैक्टर ने उन दोनों को उस समय टक्कर मार दी जब दोनों मां-बेटा सड़क किनारे खराब बाइक के पास खड़े होकर मिस्त्री का इंतजार कर रहे थे। बवाना के बरवाला निवासी लोकेश डबास ने पुलिस को बताया कि दीपावली के दिन वह बरवाला से खरखौदा किसी काम से आ रहा था। पिपली मनोदेव स्कूल के पास अचानक उसकी बाइक खराब हो गई। मिस्त्री को वहां तलाशा तो वाे वहां नहीं मिला।

इसके बाद इत्तेफाक से उसके ताऊ की लड़की व ताऊ का पोता गांव रभड़ा अपने पैतृक गांव में दिवाली पर जोत लगाकर स्कूटी से वापस लौट रहे थे, उसने उन दोनों को वहां पर रूकवा लिया और कहा कि वह खुद एक बार स्कूटी लेकर मिस्त्री को लेकर आता है, तब तक वे दोनों यहां पर इंतज़ार करें।

जैसे ही वह स्कूटी लेकर चलने लगा ही था कि इतनी ही देर में एक ट्रैक्टर ने मोटरसाइकिल के पास साइड में खड़ी उसकी 40 वर्षीय बहन लता व 18 वर्षीय भांजे लक्ष्य दोनों मां-बेटे को टक्कर मार दी जिसमें गंभीर से घायल दोनों को खरखौदा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल कराया गया। जहां पर चिकित्सकों ने लता व लक्ष्य को मृत घोषित कर दिया।

जानकारी के मुताबिक लता का परिवार गोहाना के रभड़ा गांव से आकर बवाना में बस गया था। उनके पति बवाना में कपड़े का काम करते हैं। संतान के रूप में एक लड़का व एक लड़की उनके पास थे। उनका लड़का लक्ष्य दिल्ली के कॉलेज में पढ़ाई करता था। लक्ष्य की एक बड़ी बहन जोकि पढ़ाई कर है।

अब परिवार में लक्ष्य की बहन व उनके पिता हैं। इस हादसे से पूरा परिवार शोक में डूब गया है। वहीं, खरखाैदा के एसएचओ कर्मजीत सिंह ने बताया कि ट्रैक्टर को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। जबकि ट्रैक्टर चालक मौका पाकर फरार हो गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...