पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुविधा:500 बेड के काेविड अस्पताल के लिए पानीपत से चलेंगी 20 बसें, 10 मई तक शुरू हाे जाएगी बस सेवा

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 10 बसें राेडवेज व 10 लगाई जाएंगी स्कूलाें की, आरटीए सचिव काे साैंपी जिम्मेदारी

रिफाइनरी के पास बन रहे 500 बेड के काेविड-19 अस्पताल के लिए 20 बसाें काे लगाया जा रहा है। ये बसें पानीपत से अस्पताल के बीच चलेंगी। इन बसाें की मदद से काेविड-19 पेशेंट काे और उनके तीमारदार काे ही भेजा जाएगा। प्रशासन ने आरटीए सचिव काे इन बसाें के इंतजाम की जिम्मेदारी साैंपी है। 10 मई तक इन बसाें की सेवा शुरू कर दी जाएगी।

इसके लिए 10 बसें राेडवेज और 10 बसें स्कूल से मिल रही हैं। काेराेना संक्रमण के तेजी से बढ़ने के कारण अस्पतालाें में न ताे बेड मिल रहे हैं और न ही ऑक्सीजन की व्यवस्था है। इस आपातकाल काे देखते हुए प्रदेश सरकारी ने आनन-फानन में पानीपत से 20 किमी. दूर रिफाइनरी के पास 500 बेड के अस्पताल का निर्माण शुरू कर दिया है।

पहले ब्लाॅक में 304 बेड की व्यवस्था हाे गई है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चाैटाला ने बुधवार काे इस निर्माणाधीन अस्पताल का निरीक्षण भी किया था। दावा किया है कि 10 मई तक अस्पताल के एक ब्लाॅक काे शुरू कर दिया जाएगा। बाकी का पूरा अस्पताल 15 मई तक तैयार हाे जाएगा।

यहां काेविड-19 पेशेंट काे बेड के साथ-साथ ऑक्सीजन और अन्य सुविधाएं भी मिलेंगी। पानीपत से 20 किमी. दूर हाेने और लाॅकडाउन के कारण परिवहन सेवा प्रभावित हाेने के कारण इस अस्पताल तक काेविड पेशेंट और तीमारदाराें काे पहुंचाना भी पानीपत प्रशासन के सामने चुनाैती बन गया था। क्याेंकि इस वक्त एम्बुलेंस की भी कमी पड़ गई है। इसके लिए पानीपत ने काेविड-19 अस्पताल और पानीपत की दूरी काे कम करने के लिए बसाें का सहारा लिया है। इन बसाें के व्यवस्था करने की जिम्मेदारी अारटीए सचिव प्रभारी राकेश काे साैंपी गई है।

खबरें और भी हैं...