पानीपत में राजस्थानी गायों की मौत:माल गाड़ी की चपेट में आने से 22 राजस्थानी गायों की दर्दनाक मौत, तीन घंटे थमी रही माल गाड़ी

पानीपतएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे ट्रैक के पास पड़ा गाय का श� - Dainik Bhaskar
रेलवे ट्रैक के पास पड़ा गाय का श�
  • ​​​​​थर्मल के आसन कलां के पास हुआ हादसा, हॉर्न बजाने के बाद ट्रैक पर आई घबराई गाय

पानीपत के थर्मल में माल गाड़ी के चपेट में आने से 22 राजस्थानी गायों की दर्दनाक मौत हो गई। हादसे के बाद कई गाय के शव माल गाड़ी के ईंजन में फंस गए। जिस कारण माल गाड़ी तीन घंटे तक ट्रैक पर खड़ी रही। गायों की मौत से गो रक्षकों में रोष रहा।

राजस्थान के पशुपालक जेठा भाई और मोटा भाई ने बताया कि वह हर साल चाले की तलाश में राजस्थान से हरियाणा आते हैं। ताकि अपनी गायों का पेट भरकर अपने परिवार का पालन-पोषण कर सके।

दोनों चरवाहे शनिवार को थर्मल के आसन कलां के पास रेलवे ट्रैक पर गायों को चरा रहे थे। तभी एक माल गाड़ी वहां आई।

माल गाड़ी ने जैसे ही हॉर्न बजाया, गाय डरकर रेलवे ट्रैक पर दौड़ने लगीं। उन्होंने गायों को रेलवे ट्रैक से हटाने का प्रयास किया, लेकिन वह सभी गायों को नहीं हटा सके।

जब तक माल गाड़ी रुकी, तब तक 22 गायों की दर्दनाक मौत हो चुकी थी। कई गाय के शव माल गाड़ी के इंजन में फंस गए। जिस कारण माल गाड़ी करीब 3 घंटे तक ट्रैक पर रुकी रही। रेलवे इंजीनियर के मौके पर पहुंचने पर ट्रेन को रवाना किया गया। हालांकि इस दौरान कोई ट्रेन प्रभावित नहीं हुई।

गो रक्षकों ने शवों को दफनाया
गायों की मौत की सूचना पर थर्मल के गो रक्षक मौके पर पहुंचे। उन्होंने गायों की मौत पर रोष प्रकट किया। गो रक्षकों ने रेलवे ट्रैक के दोनों तरफ रेलिंग की मांग की है। इसके बाद मृतक गायों के शवों को दफनाया गया।