सावधान! जालसाज एजेंटों से बचकर रहें / अमेरिका में 3 लाख रु. माह की नौकरी का सपना दिखा युवक से 32 लाख ठगे

अजयदीप अजयदीप
X
अजयदीपअजयदीप

  • अवैध रूप से अमेरिका में एंट्री कराई, पकड़े जाने पर 14 माह जेल काटी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 06:12 AM IST

पानीपत. किसान के बेटे को अमेरिका भेजकर 3 लाख रुपए महीने की जॉॅब दिलाने का झांसा देकर दंपती और सरकारी अस्पताल के कर्मी ने 32 लाख रुपए की ठगी कर ली। 12 से ज्यादा देशों की यात्रा कराकर उसकी अवैध तरीके से अमेरिका में एंट्री कराई। दीवार फांदते ही अमेरिका पुलिस ने अरेस्ट कर लिया। 14 माह जेल में रहा। करीब 10 लाख रुपए खर्च होने के बाद बेटा इंडिया लौटा। पहले आरोपी ने रुपए लौटाने का भरोसा दिया। बाद में मुकर गया व जान से मारने की धमकी दी। किसान ने एसपी को शिकायत दी थी। मॉडल टाउन थाना पुलिस ने किशोर गार्डन निवासी बलबीर सिंह पुत्र मांगेराम, उसकी पत्नी पिंकी, जींद के खेड़ा गांव निवासी राजेश पुत्र जोरा व 5 अज्ञात एजेंटों पर केस दर्ज किया। आरोपी बलबीर मूलरूप से खुखराना गांव का है। यहां पर राजेश के मामा रहते हैं।

राजेश फिलहाल सौदापुर कॉलोनी में रहता है और करनाल के सालवन के सरकारी अस्पताल में जॉब करता है। करनाल के मूंड़ गांव निवासी बाबूराम पुत्र सुंदरा राम के 3 बेटे हैं। बड़ा बेटा खेतीबाड़ी करता है। छोटा आर्मी में है। दूसरे नंबर का अजय दीप नौकरी की तलाश में था। अजय को पता चला कि आरोपी बलबीर अमेरिका व कनाडा भेजकर नौकरी लगवाता है। वह पिता के साथ बलबीर के घर पहुंचा। अमेरिका भेजकर मॉल में जॉब लगाना का 32 लाख में सौदा हुआ। 12 लाख रुपए पासपोर्ट के साथ और बाकी अमेरिका पहुंचने के बाद देने थे। एक एकड़ जमीन गिरवी रख 20 अप्रैल 2018 को पिता-पुत्र बलबीर के घर पहुंचे। आरोपी दंपती को 12 लाख रुपए व अजयदीप का पासपोर्ट दिया।

जंगल और छोटी नांव में समुद्र के रास्ते ले गए एजेंट, कमरे में बंद कर पीटते थे, खाना भी नहीं देते थे

जैसा कि अजयदीप ने बताया
24 अप्रैल 2018 को बलबीर ने फोन कर पिता को कहा कि वीजा लग गया, बेटे को लेकर दिल्ली पहुंचो। दिल्ली में होटल में एजेंट के हवाले कर दिया। 26 की रात को वह प्लेन से रूस के मास्को और फिर इटली के मिलान गया। 15 दिन बसों में सफर कराया। घने जंगल के रास्ते समुद्र किनारे पहुंचा। वहां मेरी आंख पर पट्‌टी बांधकर एजेंटों ने छोटी नाव में बैठाया और करीब 8 घंटे समुद्र में सफर कराया। 27 अप्रैल से 24 जून तक भटकता रहा। 13 दिन मैक्सिको की जेल में भी रहा। कोलम्बिया में एक कमरे में बंद कर मारपीट की और पिता को फोन कराया। आरोपियों के कहने पर मैंने पिता को फोन कर कहा कि बलबीर को 10 लाख रुपए दे दो। बलबीर के कहने पर पिता ने राजेश को रुपए दिए। जो पिंकी ने लिए। 10 दिन बाद मैं मैक्सिको पहुंचा। कमरे में बंद कर मारपीट की। पिता को धमकी दी कि 10 लाख रुपए बलबीर को दे दो, नहीं तो वे मुझे किसी माफिया गिरोह के हवाले कर देंगे। 10 लाख मिलने पर अमेरिका पहुंचाने का वादा किया तो पिता ने बलबीर के कहने पर फिर आरोपी राजेश को रुपए दिए। बलबीर के एजेंटों ने मुझे जबरन दीवार कुदवा दी। पिता को फोन किया कि बेटे को अमेरिका पहुंचा दिया। जबकि दीवार फांदते ही मुझे अमेरिका पुलिस ने पकड़ लिया। मुझे जेल से छुड़ाकर इंडिया बुलाने में पिता के 8 से 10 लाख रुपए और खर्च हाे गए।

दंपती पर पहले भी दर्ज हो चुका है केस: आरोपी दंपती पर मई 2019 में भी विदेश भेजने के नाम पर 41 लाख रुपए की ठगी करने का केस दर्ज हुआ था। आरोपी बलबीर व उसका साथी की गिरफ्तारी हुई है। एक साल बाद फिर दंपती पर ठगी का केस दर्ज हुआ है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना