पानीपत में कोरोना बच्चों पर हावी:10 दिन में 8 साल से कम आयु के 5 बच्चे संक्रमित; अब कुल 80 केस एक्टिव; मिनी लॉकडाउन लगा

पानीपत7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा में कोरोना महामारी की तीसरी लहर लगातार आती दिखाई दे रही है। रोजाना कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। हरियाणा के पानीपत जिले में 80 कोरोना केस एक्टिव हैं, लेकिन जिले में कोरोना बच्चों पर भी हावी है। क्योंकि यहां 10 दिन में 8 से कम उम्र के 5 बजे पॉजिटिव मिले हैं। इसलिए अब पानीपत को रेड जोन में शामिल कर दिया गया है और शाम 6 बजे के बाद मिनी लॉकडाउन लगा दिया गया है।

पानीपत जिले में कोरोना के साथ ही उसके ओमिक्रॉन वैरिएंट का खतरा बढ़ रहा है। बुधवार को 2 साल के बच्चे समेत कोरोना संक्रमण के 20 नए केस मिले हैं। बच्चे के सेक्टर-12 निवासी माता-पिता भी कोरोना संक्रमित हैं। वहीं एक जनवरी को अमेरिका से लौटी सुखदेव नगर निवासी महिला की रिपोर्ट ओमिक्रॉन पॉजिटिव आई है। हालांकि महिला की हालत ठीक है, उसे घर पर ही आइसोलेट किया गया है, लेकिन जिले में अब तक ओमिक्रॉन के 4 केस दर्ज हो चुके हैं।

जिले में 80 केस एक्टिव

इस वक्त जिले में कोरोना के 80 केस एक्टिव हैं। पहली लहर से लेकर अब तक की बात करें तो जिले में कोरोना संक्रमण के 31 हजार 205 केस मिल चुके हैं और 642 लोगों की मौत हुई है। बुधवार को 1552 लोगों की कोरोना जांच हुई। वहीं दूसरी ओर ओमिक्रॉन को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर है। सिविल सर्जन एवं पीएमओ की ओर से डॉक्टरों की फील्ड में ड्यूटी लगा दी गई है। फिलहाल सभी डॉक्टरों की छु‌ट्टियां कैंसिल कर दी गई हैं। कोई भी डॉक्टर स्टेशन छोड़कर बाहर नहीं जा सकता है। सिविल सर्जन ने मेडिकल एसो‌सिएशन से अपील की है कि सभी निजी अस्पतालों के संचालक अपने यहां पर व्यवस्थाओं की रिपोर्ट दें। अस्पताल में ऑक्सीजन बेड, नॉन ऑक्सीजन बेड, वेंटिलेटर और आईसीयू बेड की संख्या उपलब्ध कराई जाए। सभी सामुदायिक केंद्रों में ऑक्सीजन कंसस्ट्रेटर की फिटिंग चल रही है। इसके साथ ही 15-15 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की गई है।

खबरें और भी हैं...