आदेश जारी:स्कूल छाेड़ चुके 700 बच्चाें काे स्पेशल ट्रेनिंग सेंटर से पढ़ाया जाएगा ऑनलाइन

पानीपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत में हैं 20 सेंटर, हर सेंटर काे मिलेगा 1600 रुपए का बजट - Dainik Bhaskar
पानीपत में हैं 20 सेंटर, हर सेंटर काे मिलेगा 1600 रुपए का बजट
  • विभाग ने मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स व थर्मल स्केनर के लिए बजट किया जारी
  • पानीपत में हैं 20 सेंटर, हर सेंटर काे मिलेगा 1600 रुपए का बजट

काेविड- 19 के बढ़ते संक्रमण काे देखते हुए हरियाणा स्कूल शिक्षा परियाेजना परिषद ने स्कूल छाेड़ चुके बच्चाें केा ऑनलाइन पढ़ाई करवाने के आदेश जारी कर दिए है। अब तक पानीपत के 20 स्पेशल सेंटराें पर करीब 500 बच्चाें काे ऑफलाइन पढ़ाई करवाई जा रही थी। अब सिर्फ ऑनलाइन ही पढ़ाई करवाई जाएगी। इसके साथ ही विभाग ने बच्चाें के लिए मास्क, सेनेटाइजर, ग्लब्स और थर्मल स्केनर लेने के लिए भी बजट जारी कर दिया है।

हर सेंटर काे 1600 रुपए मिलेंगे। समग्र शिक्षा की जिला परियाेजना समंवयक काैशल्या आर्य ने बताया कि विभाग ने दाे महीने पहले उन बच्चाें का सर्वे करवाया था, जिन्हाेंने आर्थिक आभाव या अन्य किसी वजह से बीच में ही पढ़ाई छाेड़ दी थी। टीम ने जकरीब 500 ऐसे बच्चाें काे चिह्नित किया था। एक महीने पहले परिषद की तरफ से उक्त बच्चाें की ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करा दी थी।

शिक्षक चाैपाल, मंदिर आदि स्थान पर पहुंचकर 6-6 बच्चाें के बैच बनाकर शिक्षित कर रहा था। काेराेना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इस कारण शिक्षक ऑनलाइन पढ़ाई करवाने की मांग कर रहे थे। परिषद ने उनकी मांग पर सहमति जताते हुए पत्र जारी कर दिया है।

रजिस्टर में नाेट किया जाएगा तापमान

डीपीसी ने बताया कि शिक्षक प्रतिदिन बच्चाें से ऑनलाइन ही बाॅडी का तापमान चेक करवाएंगे। उसके बाद उसे प्रतिदिन रजिस्टर में नाेट भी करेंगे। यदि किसी बच्चे का तापमान ज्यादा मिलता है ताे उसे मेडिकल सुविधा दिलवाने में मदद की जाएगी। इसकी पूरी रिपोर्ट बनाकर विभाग को भेजी जाएगी।

बच्चों घर पर ही मिल रहा है मिड-डे मील

बच्चाें काे मिड डे मील भी उनके घरों तक पहुंचाया जा रहा है। जाे शिक्षक मिड डे मील देने जाएगा। वह बच्चे काे मास्क, सेनेटाइजर और ग्लब्स भी देकर आएगा। साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग की प्रतिदिन करेगा। बच्चे की बाॅडी के तापमान काे रिजस्टर में नाेट करेगा।

एक सेंटर में पढ़ाए जा रहे 20 से अधिक बच्चे

डीपीसी ने बताया कि एक सेंटर पर 20 से अधिक बच्चाें काे पढ़ाया जा रहा है। अब विभाग के निर्देश पर 6-6 बच्चों के 4 बैच बनाए गए हैं। पढ़ाने का टाइम भी सुबह 8 बजे से सुबह साढ़े 10 बजे है। सेकेंड ग्रुप साढ़े 11 बजे से दाेपहर 2 बजे तक रखा है।

खबरें और भी हैं...