पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लिंगानुपात में सुधार:1 हजार लड़काें पर 953 लड़कियां, बुढ़शाम में 1281 लड़कियाें पर 1 हजार लड़के, 3 बेटियां हाेंगी सम्मानित

पानीपत13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत हाेने के बाद लगातार पानीपत के लिंगानुपात में सुधार देखने काे मिला है। - Dainik Bhaskar
बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत हाेने के बाद लगातार पानीपत के लिंगानुपात में सुधार देखने काे मिला है।
  • 22 जनवरी 2015 को हुई थी बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत

22 जनवरी 2015 से पानीपत में शुरू हुए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत हाेने के बाद लगातार पानीपत के लिंगानुपात में सुधार देखने काे मिला है। इस बार फिर एक बार लिंगानुपात में सुधार हुआ है।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ाें के अनुसार अप्रैल-2021 में 1 हजार लड़काें पर 953 लड़कियां हो गई हैं। ओवरऑल वर्ष-2020 में जिले का लिंगानुपात 943 था और बुढ़शाम टॉप पर रहा था। गांव का नाम स्टेट को भेजा जा चुका है, ताकि कक्षा 10 में टॉपर रही तीन बेटियों को सम्मानित किया जा सके।

पीसीपीएनडीटी (गर्भ धारण एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक- विनियमन तथा दुरुपयोग अधिनियम) के जिला नोडल अधिकारी डॉ. अमित ने बताया कि वर्ष 2020 में गांव बुढ़शाम अव्वल रहा है। 50 हजार 105 जनसंख्या वाले इस गांव में वर्ष-2020 में 41 बेटियों व 32 बेटों ने जन्म लिया है। गांव का लिंगानुपात 1281 लड़कियाें पर 1 हजार लड़के हैं। इस गांव की तीन बेटियां पुरस्कृत हों, इसके लिए गांव का नाम स्टेट डायरेक्टर पीसीपीएनडीटी को भेज दिया है।

बेस्ट विलेज अवॉर्ड योजना के तहत चुना गांव

डाॅ. अमित ने बताया कि सरकार ने लिंगानुपात में सुधार लाने को बेस्ट विलेज अवॉर्ड योजना चलाई थी। वर्ष-2019 में नौल्था गांव टॉप पर रहा था। वर्ष 2020 में 10वीं में प्रथम स्थान पर रही गांव की बेटी को 75 हजार रुपए, दूसरे स्थान पर रही बेटी काे 45 हजार और तीसरे स्थान पर रही बेटी काे 30 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि छात्रवृत्ति के तौर मिलेगी।

खबरें और भी हैं...