पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • A Thug Was Found By A Teacher Who Went To The Hospital To Take Medicine As An SHO, Hypnotized By Sprinkling Intoxicant Powder, 13 Thousand Cash And Amount Withdrawn From Check Of 2.5 Lakhs

SHO बनकर रिटायर्ड टीचर से 2.63 लाख की ठगी:अस्पताल में दवाई लेने गया था पीड़ित; नशीला पाउडर छिड़ककर किया सम्मोहित, 13 हजार कैश और चेक से निकाले ढाई लाख रुपए

पानीपत10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रिटायर्ड टीचर सत्यनारायण गुप्ता अपने साथ हुई वारदात के बारे में बताते हुए। - Dainik Bhaskar
रिटायर्ड टीचर सत्यनारायण गुप्ता अपने साथ हुई वारदात के बारे में बताते हुए।

पानीपत शहर में थाने का SHO बनकर एक रिटायर्ड टीचर से 2.63 लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। सिविल अस्पताल में दवाई लेने गए रिटायर्ड टीचर को मॉडल टाउन थाने के SHO का परिचय देकर ठग मिला। बातों में उलझाकर ठग ने टीचर पर नशीला पाउडर छिड़क दिया, जिसके बाद टीचर ठग की सभी बातें मानते चले गए। ठग उन्हें अस्पताल से घर लेकर पहुंचा और 13 हजार रुपए कैश और ढाई लाख रुपए का चेक ले लिया। टीचर इस कदर सम्मोहित थे कि खुद बैंक आकर ठग को रकम निकालकर दे दी।

पीड़ित ने सिटी थाने में ठग के खिलाफ केस दर्ज कराया है। पुलिस अस्पताल और बैंक से CCTV फुटेज हासिल करने में जुटी है। पानीपत की असंध रोड स्थित पुरानी खादी कॉलोनी निवासी 77 वर्षीय सत्यनारायण गुप्ता ने बताया कि वह सरकारी टीचर से रिटायर्ड है। खांसी और सीने में दर्द के चलते वह 7 सितंबर को सिविल अस्पताल में दवाई लेने पहुंचे थे। पर्ची बनवाने के दौरान एक 6 फीट लंबा वेल ड्रेस्ड मास्क लगाए शख्स उन्हें देखकर मुस्कुराने लगा। उन्होंने उसे इग्नोर कर दिया। कुछ देर बाद फिर से वह व्यक्ति उनके पास आया।

खांसी और सीने में दर्द की परेशानी के चलते OPD पहुंचा था पीड़ित।
खांसी और सीने में दर्द की परेशानी के चलते OPD पहुंचा था पीड़ित।

शख्स से बात करने के चक्कर में डॉक्टर भी नहीं मिला

शख्स हाथ मिलाकर बोला, गुप्ता जी पहचाना नहीं, मैं SHO मॉडल टाउन सुनील शर्मा हूं। इसके बाद दोनों पास में ही बैंच पर बैठ गए। बात करते हुए व्यक्ति बोला कि गुप्ता जी अचानक कुछ पैसों की जरूरत पड़ गई है। उन्होंने कहा कि मैं पर्ची बनवा लूं, फिर टाइम निकल जाएगा। वह पर्ची बनवाने पहुंचे तो कर्मचारी ने बताया कि डॉक्टर जा चुके हैं तो वे फिर से उस व्यक्ति के पास जाकर बैठ गए। बातों-बातों में व्यक्ति अचानक खड़ा हुआ और सफेद पाउडर उनके ऊपर छिड़क दिया। तभी से उन्हें धुंधला दिखाई देने लगा।

उन्होंने शख्स से पूछा कि यह क्या कर रहे हो तो व्यक्ति ने कहा कि इससे कोरोना का प्रभाव कम होगा। पाउडर छिड़कने के बाद से उन्हें केवल अपनी और उस शख्स की बातें सुन रही थीं। वह सम्मोहित होकर शख्स की सारी बातें मानते गए और उसे पैसे देने के लिए घर ले आए। यहां उन्होंने 13 हजार रुपए दिए। व्यक्ति बोला कि इनसे उसका काम नहीं चलेगा, इसलिए वह चेक दे सकते हैं। जब वह दो लाख का चेक देने लगे तो व्यक्ति ने ढाई लाख का भरवा लिया। फिर वे खुद बैंक गए और चेक कैश कराकर उसे पैसे दे दिए।

सिटी थाना पुलिस CCTV खंगाल रही है।
सिटी थाना पुलिस CCTV खंगाल रही है।

खुद बैंक आकर निकलवा कर दिए पैसे

रिटायर्ड टीचर ने बताया कि चेक लेने के बाद शख्स गेट तक गया और वापस आकर बोला कि बैंक में साइन की दिक्कत आ सकती है। इसलिए वह खुद उसके साथ संजय चौक स्थित बैंक पहुंचे और ढाई लाख रुपए निकालकर दे दिए।

रोब जमाने के लिए जिप्सी मंगाने को फर्जी कॉल की

पीड़ित टीचर ने बताया कि सम्मोहित करने के बाद ठग ने एक फर्जी कॉल करके अपनी जिप्सी बुलाने की बात कही। कुछ देर बाद बोला कि जिप्सी में पंक्चर हो गई है। वह ऑटो से घर चलते हैं। ठग उनके साथ रोड पर आया और ऑटो करके दोनों घर आ गए।

मॉडल टाउन थाना SHO से है पुरानी पहचान

रिटायर्ड टीचर ने बताया कि वह सोनीपत के रहने वाले हैं। SHO सुनील शर्मा का गांव भी उसके पास है। इसी कारण सुनील शर्मा से उनकी पुरानी पहचान है, लेकिन कई सालों से उनसे न मिलने के कारण वह ठग को पहचान नहीं पाए। वहीं ठग ने एक मिनट के लिए भी अपना मास्क नहीं हटाया।

पुलिस CCTV फुटेज से ठग तक पहुंचने में लगी

ठग ने दो दिन में रुपए वापस करने की बात कही थी। दो दिन बीतने के बाद उन्होंने मॉडल टाउन थाने में फोन करके SHO के बारे में पूछा तो पता लगा कि सुनील शर्मा का 6 महीने पहले दूसरे थाने में ट्रांसफर हो चुका है। तब उन्हें शक हुआ तो उन्होंने सुनील शर्मा को फोन किया। तब उन्हें ठगी का पता लगा। अब सिटी थाना पुलिस सिविल अस्पताल और बैंक के CCTV फुटेज खंगालने में लगी है, जिसके आधार पर ठग तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...