• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • After Stopping The Businessman Going Home On Foot On The Strength Of The Pistol, The Miscreant Said Give The Bag Quietly, The Crooks Ran Away With The Purse In A Scuffle, The Businessman Saved 4 Lakhs By Courage

पानीपत में व्यापारी ने लुटने से बचाए अपने 4 लाख:पैदल घर जा रहा था; गन प्वाइंट पर बदमाश ने रोका और बोला- चुपचाप बैग दे दे, धक्का-मुक्की में पर्स ही लगा उनके हाथ

पानीपत3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लूट पीड़ित व्यापारी अजय। - Dainik Bhaskar
लूट पीड़ित व्यापारी अजय।

हरियाणा के पानीपत में एक व्यापारी ने हिम्मत दिखाते हुए अपने 4 लाख रुपए लुटने से बचा लिए। बदमाशों के हाथ सिर्फ उसका पर्स लगा, जिसे लेकर वह भाग गए। जबकि वह उसका बैग छीनना चाहता था। लेकिन व्यापारी ने धक्का मुक्की होने पर भी बैग नहीं छोड़ा। पीड़ित की शिकायत पर किला थाना पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस आसपास के CCTV कैमरों में बदमाशों की तलाश कर रही है।

पानीपत की हनुमान कॉलोनी निवासी अजय सैनी ने बताया कि उसने पहलवान चौक पर मनी ट्रांसफर और मोबाइल की दुकान की हुई है। बुधवार रात करीब 9:30 बजे वह दुकान बंद करके पैदल ही घर वापस जा रहा था। जैसे ही वह दुकान से निकला तो पीछे से सप्लेंडर बाइक पर आए तीन युवकों ने उसे रोक लिया। पिस्टल दिखाकर एक बदमाश बोला कि चुपचाप बैग दे दे। उसने नहीं दिया तो बदमाश छीनने लगा। छीना-झपटी में बैग फट गया।

इसी बीच बदमाश पिस्टल में गोली डालने लगा। इसका फायदा उठाकर उसने बदमाश को थप्पड़ जड़ दिया। जवाब में बदमाश ने उसकी गर्दन पर पिस्टल की बट मार दी। वह बदमाश से छूटकर भागने लगा। इससे पहले बदमाश उसकी जेब से पर्स लूट चुके थे, जिसमें करीब 20 हजार रुपए व अन्य जरूरी सामान था। पर्स लूटने के बाद बदमाश बेरी वाली मस्जिद की तरफ और वह कुटानी रोड की तरफ भाग गया।

गली में खड़े दो युवकों ने नहीं की मदद
अजय सैनी ने बताया कि उसने विरोध करते हुए एक बदमाश को पकड़ लिया था। गली में दो युवक खड़े थे। उसने युवकों से मदद मांगी, लेकिन वह नहीं आए। जब बदमाश पिस्टल में गोली लोड करने लगा तो उसे भी जान बचाकर भागना पड़ा।

विरोध करने से बच गए 4 लाख रुपए
अजय ने बताया कि उसका मनी ट्रांसफर का काम है। कई बार ग्राहकों को नकद देना पड़ता है। इसलिए रुपयों की जरूरत पड़ती है। हालांकि वह नकदी को दुकान पर न रखकर अपने साथ घर ले आता है। वारदात के समय उसके बैग में 4 लाख रुपए थे। उसने बदमाशों का विरोध करके बैग नहीं दिया, जिससे उसके 4 लाख रुपए बच गए।

खबरें और भी हैं...