अग्निपथ योजना का पानीपत में विरोध:ड्यूटी मजिस्ट्रेट के गले लग रोया प्रदर्शनकारी; बोला- चार साल की नौकरी के बाद युवा अपराधी बनेंगे

पानीपत5 महीने पहले

हरियाणा के पानीपत जिले में केंद्र सरकार की सेना भर्ती के लिए नई योजना अग्निपथ का जोरदार विरोध हुआ। यहां शनिवार को प्रदर्शन अन्य सभी जगहों से काफी अलग देखने को मिला। युवा आईबी कॉलेज के बाहर से प्रदर्शन कर टोल प्लाजा के लिए पैदल निकले। पुलिस ने उन्हें मिनी सचिवालय के बाहर ही रोक लिया और आगे नहीं जाने दिया।

सभी प्रदर्शनकारियों को सचिवालय परिसर में ले जाया गया। वहां पुलिस और ड्यूटी मजिस्ट्रेट LDM कमल गिरधर ने प्रदर्शनकारियों को समझाया। इस दौरान प्रदर्शनकारी युवा ड्यूटी मजिस्ट्रेट के गले लगकर रोने लगा। रोते हुए युवक ने कहा कि अंकल प्लीज इस योजना को रद्द करवा दो, क्योंकि सेना में भर्ती होने के लिए चार-पांच से तैयारी कर रहे हैं। अब सरकार ने इसे भी 4 साल की नौकरी बनाकर रख दिया। 5 साल से तैयारी कर रहे युवा 4 साल की नौकरी के बाद क्या करेंगे। 4 साल में तो युवा गोली चलाना सीखेंगे, तब तक नौकरी से रिटायर हो जाएंगे। उसके बाद वे बाहर आकर गोलियां चलाएंगे और अपराधी बन जाएंगे।

जीटी रोड पर इकट्‌ठे होते प्रदर्शनकारी।
जीटी रोड पर इकट्‌ठे होते प्रदर्शनकारी।

पुलिस ने किए नाम-नंबर नोट तो घबराए प्रदर्शनकारी
अग्निपथ योजना के विरोध में देशभर में हो रही अप्रिय घटनाओं से सबक लेते हुए पानीपत पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड पर दिखा। कहीं कोई अनहोनी न हो जाए इसलिए पानीपत पुलिस ने प्रदर्शन करने आए युवाओं का नाम, पता और उनका मोबाइल नंबर नोट कर लिया। इसके बाद प्रदर्शनकरी घबरा गए और ड्यूटी मजिस्ट्रेट से पूछने लगे कि अंकल ये नाम-नंबर क्यों लिखे गए हैं। कहीं हम पर मुकदमा तो दर्ज नहीं हो जाएगा।

ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने उन्हें समझाते हुए कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से यह सारी डिटेल नोट की जा रही है। आपने शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया है, इसलिए किसी भी युवा पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं होगा। कानून हाथ में लिया तो कार्रवाई की जाएगी।

20 जून को दिल्ली में करेंगे प्रदर्शन
प्रदर्शन कर रहे युवाओं ने कहा कि जब तक कृषि बिलों कि तरह अग्निपथ योजना वापस नहीं ले ली जाती तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा। आने वाली 20 जून को दिल्ली जाकर भी प्रदर्शन करेंगे।

युवाओं ने कहा कि कोई अमीर घर का बच्चा सेना की तैयारी नहीं करता। अगर कोई अमीर परिवार का बच्चा सेना में जाता भी है तो वह अफसर के रैंक की पोस्ट पर जाता है। किसी भी अमीर घर का बच्चा जीडी के पद की तैयारी नहीं करता।

खबरें और भी हैं...