सिविल अस्पताल में हंगामा:ईएनटी स्पेशलिस्ट के पास इलाज को आए मरीजों से बदसलूकी करने के आरोप

पानीपत20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सिविल अस्पताल में बुधवार को मरीजों ने जमकर हंगामा किया और डॉक्टरों व सिक्योरिटी गार्ड पर बदतमीजी करने व धक्का मुक्की करने के आरोप लगाए। गुस्साए मरीज पीएमओ डॉ. संजीव ग्रोवर के पास पहुंच गए। डॉ. ग्रोवर को पीड़ितों ने लिखित में शिकायत दी है। पीएमओ ने डिप्टी एमएस को मामले की जांच सौंप दी है। डॉ. संजीव ने इस मामले में आरोपी ईएनटी स्पेशलिस्ट से पूछताछ भी की है।

सिविल अस्पताल में आए संदीप व अमित मलिक ने बताया कि वो अपनी पत्नी के इलाज के लिए सिविल अस्पताल में आए थे। उनकी पत्नी के गले में दर्द है। वो सुबह साढ़े 11 बजे अस्पताल में पहुंच गए। यहां पर ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉ. शिवांजलि मरीजों की जांच कर रही थी। उनका आरोप है कि डॉक्टर ने उनका इलाज करने से इंकार कर दिया और बदतमीजी करते हुए कार्यालय से बाहर निकलने को कहा।

वो इलाज करने को कहते रहे, लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई। सिक्योरिटी गार्ड ने भी उनके साथ धक्का-मुक्की की। उनके आत्म सम्मान को ठेस पहुंचाई गई। उन्होंने इसकी शिकायत पीएमओ डॉ. संजीव ग्रोवर को दी है। बाद में डॉ. ग्रोवर ने ही उनकी पत्नी का इलाज दिया। इस बारे में पीएमओ डॉ. संजीव ग्रोवर का कहना है कि उनको लिखित शिकायत मिल गई है। वो मामले की जांच कराएंगे।

सिविल अस्पताल की लैब के रिपोर्टिंग रूम से शराब व सोडे की बोतल बरामद

इधर, सिविल अस्पताल में बुधवार शाम 5 बजे लैब के रिपोर्टिंग रूम में कुछ कर्मचारियों की शराब पीते हुए वीडियो वायरल हो गई। कुछ यूट्यूबर्स ने उनकी वीडियो बनाई है। यू ट्यूबर्स को देखकर वहां से कर्मचारी भाग गए। मौके पर लैब के इंचार्ज डॉ. श्यामलाल व डिप्टी एमएस डॉ. अमित पोरिया पहुंचे। उन्होंने वहां पर कर्मचारियों को बुलाया और शराब व सोढ़े की बोतल बरामद की।

कुछ पैकेट नमकीन के भी मिले हैं। पीएमओ ने गुरुवार सुबह लैब के सभी कर्मचारियों को अपने दफ्तर में तलब किया है। डिप्टी एमएस डॉ. अमित पोरिया ने बताया कि शिकाय‌त मिलते ही वो लैब में आ गए थे। उनको यहां कर्मचारी नहीं मिले। शराब व सोडे की बोतल मिली है। यहां कौन से कर्मचारी थे। उनकी यहां ड्यूटी थी या नहीं। इसकी जांच चल रही है।

खबरें और भी हैं...