पानीपत नहर में गिरी बैंककर्मियों की कार:दो लड़कियों और 1 युवक को लोगों ने निकाला, कार चला रही लड़की की अस्पताल में मौत

पानीपतएक महीने पहले
हादसे के बाद कार को निकालते लोग।

हरियाणा के पानीपत में मंगलवार दोपहर एक बड़ा हादसा हो गया। यहां सौंदापुर से लालबत्ती की ओर जा रही एक कार दिल्ली पैरलल नहर में गिर गई। कार में बैंक के तीन कर्मचारी सवार थे। कार महिला चला रही थी। नहर के पास वह अचानक संतुलन खो बैठी और कार नहर में जा गिरी।

कार को नहर में गिरते देखकर बगल की एकता कॉलोनी के लोग तुरंत मौके पर पहुंचे। लोगों ने आनन-फानन में रस्सी से चेन बनाकर कर्मचारियों को बाहर निकलाने का काम शुरू किया। इस दौरान एक युवती और एक युवक को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया मगर ड्राइविंग सीट पर बैठी युवती तक रस्सी नहीं पहुंचाई जा सकी। इसके बाद मौके पर मौजूद स्थानीय महिलाओं ने चुन्नी से चुन्नी जोड़कर रस्सी को लंबा किया और उसे युवती तक पहुंचाया। इसके बाद उस युवती को भी नहर से बाहर निकाल लिया गया।

इस दौरान उस युवती के पेट में काफी पानी चला गया जिससे उसकी हालत खराब होने लगी। मौके पर पहुंचे पुराना औद्योगिक थाने के प्रभारी इंस्पेक्टर बलराज ने कार चला रही युवती को पेट के बल लिटाकर उसके शरीर में भरे पानी को बाहर निकला। युवती को ऑक्सीजन देने का प्रयास भी किया गया। जब युवती कुछ सांस लेने लगे तो SHO उसे अपनी गाड़ी में लिटाकर नजदीकी निजी अस्पताल ले गए। वहां कुछ ही देर बाद युवती की मौत हो गई।

इस कार को चला रही थी महिला बैंककर्मी।
इस कार को चला रही थी महिला बैंककर्मी।

तीनों AXIS बैंक के कर्मचारी

पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया कि एक्सिस बैंक में काम करने वाली सेल्स ऑफिसर रितू सौंदापुर में विक्की नामक युवक का बैंक खाता खोलने आई थी। रितू वहां तक ऑटो में पहुंची। बैंक अकाउंट खोलने की प्रक्रिया पूरी करने के बाद उसने बैंक में साथ काम करने वाले राहुल और परिधि को कॉल करके कहा कि वह आकर उसे ले जाएं।

राहुल और परिधि कार (UP15CK6666) में सौंदापुर पहुंचे। कार राहुल चलाकर लाया। वापसी में सौंदापुर की रहने वाली परिधि जिद करने लगी कि गाड़ी वह चलाएगी। राहुल और रितू ने काफी मना किया। राहुल ने परिधि से कहा कि अभी वह गाड़ी चलाना सीख ही रही है और एक्सपर्ट नहीं हुई है इसलिए भीड़-भाड़ वाली जगह गाड़ी चलाने की जिद न करे मगर परिधि नहीं मानी।

परिधि की जिद के आगे हारकर राहुल ने उसे चाबी दे दी। ड्राइविंग सीट पर बैठी परिधि ने गाड़ी चलानी शुरू की तो चंद ही पलों में वह संतुलन खो बैठी और कार सीधे नहर में जा गिरी। लोगों ने काफी मशक्कत के बाद तीनों को नहर से निकाल लिया। इस दौरान बैंक से जुड़े दस्तावेज और दूसरा सामान पानी में काफी आगे बह गया। काफी देर की मेहनत के बाद कार को भी नहर से निकाल लिया गया।