पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ठगों का नया पैंतरा:एसपी की अपील - वैक्सीन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं तो फर्जी लिंक से रहें सावधान

पानीपत20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के नाम पर लोगों से की जा रही ठगी

वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के नाम पर हो रही ठगी काे लेकर पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। एसपी शशांक कुमार सावन ने कहा कि ठगी करने के लिए ठग फर्जी लिंक भेजकर वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन का झांसा देकर ठगी कर रहे हैं। ऐसे लिंक काे न खाेलें।

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए वैक्सीन जरूर लगवाएं, मगर इसके लिए पंजीकरण सरकारी ऑफिशियल वेबसाइट cowin.gov.in या Aarogya Setu app या UMANG App का प्रयोग करें। टीकाकरण के लिए फर्जी संदेशों पर दिए गए लिंक का इस्तेमाल न करें।

साइबर ठगों द्वारा फर्जी कोविड-19 टीका पंजीकरण एसएमएस भेजकर उपयोगकर्ता के एंड्रॉयड फोन में सेंध लगाई जा रही है और यूजर्स के डेटा चुराकर ठगी कर रहे हैं। ठग सहायता के नाम पर व अन्य माध्यम से विभिन्न प्रकार की ठगी करने के तरीके अपनाकर लोगों के साथ ठगी की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

इसलिए आप सतर्क रहें। उन्होंने बताया कि लिंक पर क्लिक करने से कोई मालवेयर पेज खुल जाता है। पेज खुलने के बाद आपको कहा जाएगा कि इस एप को डाउनलोड कीजिए, इससे CoWIN platform पर जा सकेंगे, लेकिन यह पेज भी फर्जी होता है। इस एप के खुलते ही ठग आपका एड्रेस, नाम, फोन नंबर आदि निजी जानकारी चुरा लेगा। फिर ठगी कर लेगा।

इन बाताें का रखें विशेष ध्यान

  • तकनीकी सहायता कॉल करने वाले को अपने डिवाइस के रिमोट बैक की अनुमति देने से पहले उसकी पहचान सत्यापित करें।
  • किसी भी अज्ञात कॉल के अनुरोध पर कभी भी संदिग्ध सॉफ्टवेयर/एप्लिकेशन इंस्टॉल न करें।
  • कॉलर आईडी ऐप्स (जैसे ट्रू कॉलर) कई केसों में नकली जानकारी प्रदर्शित कर सकते हैं। सतर्क रहें।
  • समय-समय पर अपना पासवर्ड बदलें: कंप्यूटर के साथ-साथ इंटरनेट बैंकिंग का भी।
  • किसी भी अज्ञात व्यक्ति को ऑनलाइन मेडिकल हेल्प के लिए पेमेंट करने से पहले उसकी पहचान को जांच ले।
  • मेडिकल हेल्प के लिए अपनी किसी भी प्रकार की निजी जानकारी सोशल मीडिया पर न डाले। अज्ञात व्यक्ति जानकारी का गलत प्रयोग कर सकता है।
  • साईबर क्राइम से संबंधित अपराध की जानकारी अपनी नजदीकी पुलिस स्टेशन मे दें।
खबरें और भी हैं...