पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आय से अधिक संपत्ति मामले में एफआईआर:एचएसएससी सदस्य रहे भोला की 7 साल में 39 लाख की आय हुई, पर संपत्ति 1.87 करोड़ की मिली

राजधानी हरियाणा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्म्क फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्म्क फोटो
  • हुड्‌डा सरकार में 2005 से 2014 तक पद पर रहे थे, 1.23 करोड़ की बेची जमीन का भी नहीं दे पाए हिसाब
  • विजिलेंस ने रामशरण भोला, उनकी पत्नी और शिकायकर्ता राजबीर के खिलाफ भी केस दर्ज

(मनोज कुमार) हुड्‌डा सरकार में हुई भर्तियों को लेकर लगातार उठ रहे सवालों के बीच अब हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) के पूर्व सदस्य रामशरण भोला के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला सामने आया है। आरोप है कि भोला ने शिकायकर्ता राजबीर के जरिए लोगों से नौकरी लगवाने के बदले पैसे लेकर अपनी पत्नी कृष्णा के नाम करनाल, यमुनानगर व अन्य जगह कृषि भूमि व प्लाॅट खरीदकर अवैध सपंत्ति बनाई है। 

बड़ी बात यह है कि भोला के खिलाफ शिकायत देने वाला उसका करीबी रहा है। मामले की प्रारंभिक जांच के बाद विजिलेंस ने भोला के साथ उनकी पत्नी और शिकायतकर्ता राजबीर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। अब इस मामले में गहनता से जांच की जाएगी। मामले की जांच करने वाले यमुनानगर विजिलेंस के इंस्पेक्टर की प्राथमिक रिपोर्ट के अनुसार हुड्‌डा सरकार में रामशरण भोला 2005 से 2014 तक हरियाणा कर्मचारी आयोग के सदस्य रहे।

जांच के दौरान उनकी इनकम और खर्च का ब्योरा जुटाया गया। जिसमें आय का 60 फीसदी खर्च बताते हुए 40 फीसदी बचत माना। रिपोर्ट के अनुसार, भोला ने 2011 तक सदस्य रहते 1 करोड़ 87 लाख 38 हजार 151 रु. की चल-अचल संपत्ति बनाई। जबकि भोला और उनकी पत्नी की विभिन्न स्त्रोंतों से हुई आय को जोड़ा गया तो वह 39 लाख 4 हजार 217 रुपए थी। यानी उनकी आय से 1,48,33,934 रुपए से ज्यादा सपंत्ति उनके पास मिली है।

2012 से 2014 तक सदस्य रहते हुई भोला का कोई खर्च नहीं पाया गया है। 2012 में भोला ने 1 करोड़ 23 लाख 95 हजार रुपए की खेती की जमीन बेची, जिसका भोला व उनकी पत्नी के पास कोई हिसाब नहीं मिला।

शिकायत करने वाले की भूमिका पर भी सवाल
एचएसएससी के पूर्व सदस्य रामशरण भोला के खिलाफ शिकायत करने वाले करनाल जिले के गांव मंजूरा के राजबीर को भी प्राथमिक जांच में नौकरी के नाम पर पैसे हड़पने की भूमिका में शामिल पाया गया है। इसलिए उसके खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह की रिपोर्ट में कहा गया है कि अभी तक हुई जांच में रामशरण भोला द्वारा मकान के लिए लिया गया लोन जमा कराने, इनोवा कोर का लोन भरने, बेटी की शादी में कार देने और भतीजे विकास के नाम पर 23.35 लाख रुपए प्लाॅट पर खर्च करना शामिल नहीं है। इनकी तफ्तीश आगे जोड़ी जाए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें