पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्मार्ट मीटर लगाने का काम रुका:31 मार्च तक लगाने हैं 1.25 लाख स्मार्ट मीटर, 1 साल में शहर में 27000 ही लगे

पानीपत19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मीटर लगाने में पहले से ही पीछे चल रहे पानीपत में फिर रुका काम
  • पानीपत सर्कल का खुद का ऑनलाइन सिस्टम बंद हाेने व मीटर स्टाक खत्म, रेट पर सहमति नहीं

माेबाइल की तर्ज पर उपभाेक्ताओं काे बिजली बिल भरने समेत अन्य सुविधाएं देने को स्मार्ट मीटर लगाने का काम फिर रुक गया है। यह काम दाे कारणाें से रुका है। एक ताे बिजली निगम काे मीटर नहीं मिल रहें और दूसरी तरफ पानीपत सर्कल का इंटरनेट सिस्टम भी 31 जनवरी से बंद पड़ा है। बिजली निगम के पानीपत सर्कल में एलएंडटी कंपनी काे मीटर लगाने की जिम्मेदारी साैंपी गई है।

पूरे शहर में 31 मार्च तक 1.25 लाख मीटर लगाने का लक्ष्य दिया गया है, लेकिन 10 महीने बीत जाने के बाद अभी तक मात्र 27000 स्मार्ट मीटर ही लग पाए हैं। ऐसे में मात्र एक माह में एक लाख मीटर कैसे लग पाएंगे। वहीं कंपनी अधिकारियाें का कहना है कि निगम मुख्यालय काे मीटर काे लगाने के लिए और समय मांगा है।

पहले ही फिसड्डी चल रहा पानीपत

इस काम में पानीपत सर्कल पहले ही फिसड्डी चल रहा है। पहले लाॅक डाउन और कंपनी में काम बंद रहने से मीटराें की कमी और अब मुख्यालय स्तर पर मीटराें के रेट की सहमति नहीं बनने से कंपनी द्वारा स्टाक राेक देने के कारण काम बंद पड़ा है। चाैथा बड़ा कारण निगम का खुद का इंटरनेट सिस्टम भी बंद है। ऐसे में मीटर लगाएंगे ताे पुराने मीटर का डेटा नए में स्टाेर नहीं हाेगा।

4 जिलाें में चल रहा है काम

पानीपत समेत प्रदेश के 4 जिलाें में स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं। इनमें गुड़गांव, फरीदाबाद, पंचकूला व करनाल है। इनमें करीब 10 लाख मीटर लगाने हैं। मीटर की कीमत करीब छह हजार है, लेकिन यह राशि उपभोक्ताओं से नहीं वसूली जाएगी। निगम का दावा है कि इनके लगने से लाइन लाॅस में कमी आएगी।

उपभोक्ताओं को मिलेंगे ये 5 फायदे :

किसी भी स्थिति में बिजली की सप्लाई कब बंद और चालू हाेगी, इसकी जानकारी उपभोक्ता को मिलेगी।

लाइन में आए फाल्ट की कंट्रोल रूम में तुरंत सूचना पहुंचेगी। इस कारण जल्दी ठीक हाेंगे।

उपभोक्ता चाहें ताे प्रति घंट प्रयाेग हाेने वाली बिजली का भी हिसाब देख सकेंगे।

बिल जमा कराने की प्रीपेड सुविधा मिलेगी।

रेट पर निगम व कंपनी में सहमति नहीं बनने से रुका काम

स्मार्ट मीटराें के रेट काे लेकर बिजली निगम व कंपनी के बीच सहमति नहीं बन पा रही है। इसी कारण से कंपनी ने सप्लाई राेक रखी है। साेमवार काे मुख्यालय अधिकारियाेें व कंपनी प्रतिनिधियों की मीटिंग है। उसमें सहमति बनने की पूरी उम्मीद है। साेमवार काे काम शुरू हाेने की पूरी उम्मीद है। संजीव कुमार शर्मा, एक्सईएन, सिटी, बिजली निगम, पानीपत।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें