कोरोना की चेन ने छीना पानीपत का चैन / कंप्यूटर टीचर महिला से 4 बच्चों सहित 6 संक्रमित, यूपी से लौटा युवक भी पॉजिटिव

शिव नगर में कोरोना संक्रमित केस मिलने के बाद सूनी पड़ी कॉलोनी की गली। शिव नगर में कोरोना संक्रमित केस मिलने के बाद सूनी पड़ी कॉलोनी की गली।
X
शिव नगर में कोरोना संक्रमित केस मिलने के बाद सूनी पड़ी कॉलोनी की गली।शिव नगर में कोरोना संक्रमित केस मिलने के बाद सूनी पड़ी कॉलोनी की गली।

  • कोरोना की चेन ने छीना पानीपत का चैन, संक्रमित आढ़ती से 4 दिन में 9 में फैला कोरोना
  • एक दिन में 7 केस अब तक 53 मरीज
  • छह मामले शिव नगर के पुनर्वास केंद्र के, जहां पढ़ाती थी टीचर, 1 केस गंगाराम कॉलोनी से

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:19 AM IST

पानीपत. शहर में शनिवार को एक साथ कोरोना के 7 नए पॉजिटिव केस मिले। बड़ी बात यह है कि जिले में कोरोना की अब तक की सबसे बड़ी चेन भी बन गई। 4 दिन पहले समालखा की सब्जी मंडी के कोरोना पॉजिटिव आढ़ती से अब तक 9 लोगों के संक्रमित हो गए। आढ़ती से उसकी भाभी कोरोना पाॅजिटव हुई थी। अब आढ़ती की भाभी से गोहाना रोड स्थित शिव नगर के पुनर्वास केंद्र के 4 बच्चों से 6 लोग संक्रमित मिले हैं। जो (आढ़ती की भाभी) पुनर्वास केंद्र में बच्चों को कंप्यूटर सिखाने जाती थी।

इसके अलावा उत्तर प्रदेश से दाे दिन पहले आए गंगाराम काॅलाेनी में पहुंच 25 साल का युवक भी काेराेना से संक्रमित मिला है। वह लाॅकडाउन लगते ही उत्तर प्रदेश चला गया था अाैर 20 मई काे पत्नी और अपने बेटे काे लेकर पानीपत लाैटा था। पत्नी व बेटे की रिपाेर्ट निगेटिव मिली हैं। शनिवार को मिले साताें पाॅजिटिव काे खानपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ताजा केसों में किसी में नहीं थे कोरोना के लक्षण
शनिवार को कोरोना के 7 केस मिले, किसी में भी कोरोना का कोई लक्षण नहीं था। पुनर्वास के बच्चों और स्टाफ की इसलिए जांच कराई गई, क्योंकि वहां पढ़ाने वाली महिला 21 मई को कोरोना पॉजिटिव मिली थी। अब जांच में सभी पॉजिटिव मिले। वहीं, गंगाराम कॉलोनी का युवक खुद जांच कराने गया था। इसमें भी कोई लक्षण नहीं था।

जानिए कैसे बनी अबतक की सबसे बड़ी चेन 
आढ़ती से सबसे पहले बेटे-भतीजे और भाभी में फैला वायरस

जिले में अब तक की काेराेना की सबसे बड़ी चेन बनी है। जो समालखा सब्जी मंडी के अाढ़ती से शुरू हाे पानीपत के वार्ड-15 शिवनगर स्थित पुनर्वास केंद्र तक पहुंच गई।

  • आढ़ती के संपर्क में आने से अब तक 9 संक्रमित मिले हैं। 19 मई को आढ़ती कोरोना संक्रमित मिला था।
  • 21 मई को आढ़ती का 6 साल का बेटा, 9 साल का भतीजा और 36 वर्षीय भाभी संक्रमित मिले।
  • अब आढ़ती की भाभी से बाल पुनर्वास केंद्र के 4 बच्चे (दाे 12 साल के, एक 9 अाैर दूसरा 17 साल का), 40 वर्षीय वार्डन और 36 वर्षीय महिला सफाई कर्मचारी संक्रमित मिले हैं।

कुल 53 केस में से 40 में नहीं थे लक्षण
स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंताजनक बात ये है कि ये सभी केस एसिमटोमैटिक हैं। यानी किसी में भी कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले। इनके सैंपल ‌इसलिए लिए गए थे क्योंकि ये कोरोना वायरस की रोगी महिला के संपर्क में आए थे। अब तक जिले में 53 केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 40 लोगों में कोरोना का कोई लक्षण नहीं मिला है। बाल पुनर्वास केंद्र के बच्चाें सहित 38 लाेगाें के सैंपल लिए गए थे। इसमें 6 पाॅजिटिव मिले हैं।

17 का इलाज खानपुर चल रहा, 32 ठीक हुए
जिले में 7 केस आने से कोरोना की संख्या का ग्राफ बढ़ गया। कोरोना की संख्या 46 से बढ़कर 53 हो गई है। पानीपत प्रदेश का 5वां ऐसा जिला बन गया है, जहां 50 या उससे ज्यादा पाॅजिटिव केस हाे गए हैं। गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर के अलावा पानीपत में कोरोना के 50 से अधिक केस हो गए हैं। पानीपत के इन 53 केसाें में 17 का इलाज खानपुर से चल रहा है। 32 ठीक हाे चुके हैं। तीन की माैत हाे चुकी है और एक पाॅजिटिव केस यहां से भाग चुका है।

संपर्क में आने वाले जांच कराएं : सीएमओ:

सीएमओ डॉ. संतलाल वर्मा ने कहा कि शनिवार को सात केस पाॅजिटिव मिले हैं। इसमें 12-12 वर्ष के दो बच्चे, 9 व 17 साल के दो बच्चे, बाल श्रमिक पुनर्वास केंद्र का वार्डन 40 वर्षीय पुरुष, 36 वर्षीय सफाईकर्मी महिला, गंगाराम काॅलाेनी का 25 साल का युवक पाॅजिटिव मिला है। किसी में कोरोना का कोई लक्षण नहीं था। इसलिए, अगर कोई किसी के संपर्क में आएं हों या बाहर से आएं तो जांच करा लें।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना