स्ट्रीट लाइट लगाने का काम डेढ़ माह से बंद:ठेकेदार ने 20 दिन बाद ही बंद किया स्ट्रीट लाइट लगाने का काम, शहरवासियाें में राेष

पानीपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इंसार बाजार स्थित प्रधान सुनील अरोड़ा की दुकान पर मीटिंग करते संयुक्त व्यापार मंडल व संयुक्त व्यापार मंडल समिति के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
इंसार बाजार स्थित प्रधान सुनील अरोड़ा की दुकान पर मीटिंग करते संयुक्त व्यापार मंडल व संयुक्त व्यापार मंडल समिति के पदाधिकारी।
  • 3 माह में लगानी थी 9940 लाइट, बड़ा सवाल : आखिर निगम अधिकारी ऐसे ठेकेदार पर क्याें नहीं करते कार्रवाई

शहर में नई स्ट्रीट लगाने का काम डेढ़ माह से बंद पड़ा है। ठेकेदार काे 3 महीने में पूरे शहर में 9940 नई स्ट्रीट लाइट लगाने का ठेका दिया हुआ है। इनकी फिटिंग में प्रयाेग हाेने वाला सामान भी ठेकेदार काे ही खरीदना है। शुरूआती 20 दिन में ठेकेदार ने शहर में 1900 ही स्ट्रीट लाइट लगाई थी। इनमें भी ज्यादातर बंद ही पड़ी है। करीब डेढ़ माह से बंद पड़ा काम दाेबारा शुरू नहीं हाेने के विराेध में पार्षद व शहरवासियाें में राेष पनप रहा है।

पार्षदाें का कहना है कि कई ठेकेदार लापरवाही कर रहे हैं। इसके बाद भी उनके ऊपर काेई कार्रवाई नहीं हाे रही। यह बड़ा सवाल है। आलम यह है कि कि इस समय शहर में कहीं पर केबल टूटकर लटकी पड़ी है ताे कहीं पर लगी लाइट स्ट्रीट लाइट जलकर खराब हुई बड़ी हैं। शहर में लगाई जाने वाली नई लाइटाें के लिए अलग-अलग 5 टेंडर लगाए गए थे। जाेकि वार्ड-1 से 5 तक, 6 से 10 तक, 11 से 15 तक, 16 से 20 तक और 21 से 26 तक लगे थे। लाइट भी दिसंबर में पानीपत पहुंच चुकी थी।

3 बाद माह से गाेदाम में बंद पड़ी रही। 2 मार्च काे वार्ड-10 में जीटी राेड से सेक्टर-11/12 वाली सड़क पर लगाने का काम शुरू हुआ था। पहले दिन 5-6 लाइट ही लग पाई थी। इसके बाद वार्ड-4, वार्ड-8, वार्ड-9 व वार्ड-15 में काम शुरू हुआ था। अब सभी जगह काम बंद है।

ठेकेदार ने शुरूआती एक माह में 4 ही वार्डाें में 1900 स्ट्रीट लाइट लगाकर उनमें भी लटकाया काम

लिखित जवाब मिलते ही शुरू करेंगे काम : ठेकेदार

हमारे काम में काेई लापरवाही नहीं है। सामान भी पूरी तरह से नियमाें के तहत ही खरीदा है। कुछ पार्षदाें व शहरवासियाें ने सामान की क्वालिटी पर सवाल उठाए हैं। अधिकारियाें काे स्पष्ट कर दिया है कि सामान की कहीं से भी जांच करवा लें। फिर हमें लिखित में दें कि सामान सही है। हम काम शुरू कर देंगे।
- संजू राणा, ठेकेदार।

लॉकडाउन के कारण सामान नहीं मिल रहा: एक्सईएन

स्ट्रीट लाइटाें की फिटिंग में जाे सामान प्रयाेग किया जा रहा है, वह नियमाें पर खरा उतरता है। सामान में काेई कमी नहीं। ठेकेदार काे भी यह बात बाेल दी है। अभी दिल्ली में लॉकडाउन लगने के कारण सामान नहीं मिल रहा है। जैसे ही सामान मिलना शुरू हाेगा ताे काम भी शुरू हाे जाएगा।

- नवीन कुमार, एक्सईएन, नगर निगम, पानीपत।

हम जनता काे क्या जवाब दें : बजाज

हमें भी अपने वार्डवासियों काे जवाब देना है। नई स्ट्रीट लगने के इंतजार में हमारे भी वार्डवासी बैठे हुए हैं। हमारे पाए आए दिन काेई न काेई फाेन काॅल आती रहती है। काेविड महामारी में रात के समय वैसे भी गलियां सुनसान रहती हैं। हमारी मांग है बंद हुआ काम जल्दी शुरू किया जाए।
- अनिल बजाज, पार्षद, वार्ड-5

अंधेरी गलियाें में लूटपाट व अन्य अापराधिक घटनाओं का डर

अंधरी गलियाें में लूटपाट व अन्य अापराधिक घटनाओं का डर लगा रहता है। रात में चाेरी की भी घटनाएं बढ़ रही है। काेविड के कारण शाम 6 बजे ही मार्केट बंद हाे जाती है। ऐसे में लाेगाें की मांग है कि सभी सड़काें पर राेशनी हाेनी चाहिए।
- बलराम मकाैल, पार्षद, वार्ड-18

पुरानी खराब हाेने से बंद और नई लगाने पर किसी का ध्यान नहीं

पूरे शहर में सबसे ज्यादा बुरा हाल मेरे ही वार्ड के सेक्टर-11/12, वार्ड-25 व 29 में हैं। कहने काे ताे लाेग सेक्टराें में रहते हैं, लेकिन सुविधाओं में जीराे हैं। अंधेरी सड़काें में छीना झपटी व लूटपाट की घटनाएं मेरे ही वार्ड में ज्यादा हाे रही हैं।
- शकुंतला गर्ग, पार्षद वार्ड-14

खबरें और भी हैं...