बीच बाजार ई-रिक्शा में महिला की डिलीवरी:परिजनों का आरोप- डायल 112 और 102 पर की कई कॉल, 3 घंटे के बाद खुद लाए

पानीपत7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जच्चा-बच्चा को सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे परिजन। - Dainik Bhaskar
जच्चा-बच्चा को सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे परिजन।

हरियाणा के पानीपत जिले में डायल 112 और डायल 102 की बड़ी लापरवाही सामने आई है। एक गर्भवती महिला को अचानक लेबर पेन होने पर परिजनों ने दोनों हेल्पलाइन नंबरों पर कॉल की। परिजनों ने एक नहीं, ब्लकि करीब 15 बार कॉल की। मगर उनकी सुनवाई नहीं हुई। आखिर में तीन घंटे के इंतजार के बाद परिजन महिला को एक ई-रिक्शा में अस्पताल ले जाने के लिए निकले। लेकिन रास्ते में लाल-बत्ती के नजदीक बीच बाजार में महिला को दर्द अनियंत्रित हो गया, जिसके चलते ई-रिक्शा को बीच में ही रोकना पड़ा। वहीं चंद मिनटों बाद ही महिला की डिलीवरी हो गई। महिला ने बच्ची को जन्म दिया। इसके बाद जच्चा-बच्चा को सिविल अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों के मुताबिक फिलहाल दोनों ही स्वस्थ हैं।

इस ई-रिक्शा में लेकर अस्पताल पहुंचे परिजन।
इस ई-रिक्शा में लेकर अस्पताल पहुंचे परिजन।

जानकारी देते हुए महावीर कॉलोनी निवासी मोहम्मद इरशाद ने बताया कि वह सुबह अपने काम पर गया हुआ था। अचानक उसके घर से फोन आया और उसकी पत्नी को लेबर पेन होने की बात बताई गई। यह सुनते ही वह तुरंत घर पहुंचा। घर पहुंचने के दौरान तक उसने डायल 112 व सरकारी एंबुलेंस सर्विस नंबर 102 पर कॉल की। उसके अलावा भी परिजनों ने इन नंबरों पर कॉल की। एक बार बात सुनने के बाद एंबुलेंस वाले फोन को होल्ड कर देते थे। मगर उन्होंने कोई भी संतोषजनक जबाब नहीं दिया। करीब 3 घंटे का इंतजार करने के बाद वह पत्नी को लेकर ई-रिक्शा में सिविल अस्पताल के लिए निकले, जिसकी रास्ते में ही डिलीवरी हो गई।