पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Due To Lack Of Doses, Centers Are Not Being Set Up In The Villages, So The Villagers Are Lagging Behind In Vaccination

कोरोना वैक्सीनेशन:डाेज नहीं हाेने से गांवाें में नहीं लग रहे सेंटर, इसलिए वैक्सीनेशन में पिछड़ रहे ग्रामीण

पानीपत3 महीने पहलेलेखक: गोविंद सैनी
  • कॉपी लिंक

वैक्सीन की कमी और गलत वितरण के कारण जिला वैक्सीनेशन में प्रदेश स्तर पर लगातार पिछड़ रहा है। इसके साथ-साथ जिले में ग्रामीण और शहरवासियाें में भी काफी अंतर बढ़ गया है। गांवाें और वार्ड स्तर पर सेंटर नहीं बनाए जा रहे, जिस कारण ग्रामीण लाेग वैक्सीनेशन कराने में लगातार पिछड़ रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग ने पिछले 15 दिन यानी 25 जून से लेकर 9 जुलाई तक के आंकड़े काेविन एप पर डाले हुए हैं। जिसमें ग्रामीण और शहरवासियों में साफ अंतर दिख रहा है। 25 जून से 9 जुलाई के बीच में जहां 32 हजार 176 शहरियाें काे वैक्सीन लगी है। वहीं, ग्रामीण काे लगभग आधा ही वैक्सीनेशन हुआ है। इन 15 दिन में सिर्फ 17 हजार 321 ग्रामीणाें काे टीका लगा है।

ये आंकड़ा भी तब है जब ग्रामीण शहराें के सेंटर बुक करके टीका लगवा रहे हैं। अन्यथा यहां तक भी नहीं पहुंच पाते। गांवाें में सेंटर नहीं हाेने के कारण ही लगातार शहरी सेंटराें पर भीड़ बढ़ रही है। जाेकि काेराेना की तीसरी लहर काे भी निमंत्रण दे रही है। सरकार पिछले एक महीने से दावा ही कर रही है कि जिलाें में टीके लगाने की स्पीड बढ़ाई जाएगी, लेकिन लगातार स्पीड बढ़ने की बजाए घट ही रही है।

1 जुलाई काे जहां 7300 से ज्यादा लाेगाें काे टीका लगा था। इसके बाद 11 जुलाई तक कभी भी एक दिन में ये आंकड़ा इसके आधे तक भी नहीं पहुंच पाया है। रविवार काे जिले में सिर्फ 1603 लाेगाें काे टीका लगा है। जिले में अब तक 2.83 लाख लाेगाें काे पहली और 58 हजार लाेगाें काे दाेनाें डाेज दी गई है।

गर्भवती लगवा सकती हैं टीका, शिशु को भी सुरक्षा

कोरोना संक्रमण को पूरी तरह खत्म करने के लिए अब चार से छह माह तक की गर्भवती महिलाओं को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएगी। इससे गर्भवती और गर्भ में पल रहे शिशु को सुरक्षा मिलेगी। जिले में हर साल करीब 30 हजार से अधिक महिलाएं गर्भ धारण करती हैं। प्रेग्नेंसी शुरू होने से पहले भी डोज लगवाई जा सकती है।

खबरें और भी हैं...