शिकायतों का निवारण:बिजली निगम ने 3 जगह खुले दरबार लगाए, 40 ने जमा करवाए 5 लाख रु.

पानीपत9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खुले दरबाराें में उपभाेक्ताओं की शिकायतें सुनीं व माैके पर समाधान कराए

बिजली निगम ने ग्रामीण क्षेत्राें में अलग-अलग जगहाें पर खुले दरबार लगाकर उपभाेक्ताओं की शिकायतें सुनी और माैके पर ही उन सभी शिकायताें का समाधान कराया जाे हाेने वाला था। इन दरबाराें में 57 उपभाेक्ता अपनी बिजली संबंधी शिकायतें लेकर पहुंचे। इस दाैरान 40 ने अपने करीब 5 लाख रुपए के बिल भी जमा करवाए।

दरबार में पहुंचे उपभाेक्ताओं का आह्वान किया गया कि अब काेई बिजली चाेरी न करे। साथ ही समय पर बिल भी जमा कराते रहें। पानीपत सर्कल के एसई जेएस नारा ने बताया कि बिजली निगम के एमडी के निर्देशानुसार शहर व ग्रामीण क्षेत्राें में जगह-जगह खुले दरबार लगाए जा रहे हैं।

इसी कड़ी में शनिवार काे ग्रामीण क्षेत्राें में दरबार लगाए गए। माॅडल टाउन सब डिवीजन में पड़ने वाले गांव जाटल में लगे खुले दरबार में 11 उपभाेक्ता अपनी बिजली संबंधी शिकायतें लेकर पहुंचे। इनमें से 8 शिकायतें गलत बिलाें से संबंधित ही थी। एसडीओ प्रवीन सिंह ने बताया कि 8 शिकायताें में से 5 का मौके पर ही समाधान करवा दिया गया। इनमें से 3 शिकायत बिजली मीटर बदलवाने से संबंधित थी। इन पर संज्ञान लेते हुए तीनाें के मीटर बदल दिए गए। इस दाैरान 19 उपभोक्ताओं ने अपने 2.39 लाख रुपए के बिल जमा करवाए।

32 शिकायतें, 15 ने जमा करवाए 2.5 लाख

सब अर्बन सब डिवीजन के एरिया में पड़ने वाले सुताना में 32 उपभाेक्ता अपनी बिजली संबंधी शिकायत लेकर पहुंचे। एसडीओ आदित्य कुंडू ने बताया कि जितने भी बिलाें में गलतियां मिलीं, उन सभी काे मौके पर ही ठीक करवा दिया गया। इनके अलावा 12 उपभोक्ता अपने मीटर, कनेक्शन व बिजली ताराें से संबंधित शिकायतें लेकर पहुंचे। इस दाैरान 15 उपभोक्ताओं ने बिलाें काे ठीक करवाकर 2.5 लाख रुपए माैके पर ही जमा करवा दिए।

छाजपुर में 14 शिकायताें का माैके पर समाधान

छाजपुर सब डिवीजन में पड़ने वाले गांव डाडाेला में एसडीओ अशाेक शर्मा के नेतृत्व में खुला दरबार लगाया गया। एसडीओ ने बताया कि दरबार में 14 उपभाेक्ता अपनी बिजली संबंधी शिकायतें लेकर पहुंचे। सभी का समाधान कराया गया। इनमें से 6 उपभोक्ताओं ने 85 हजार रुपए के बकाया बिल जमा करवाए। बाकि बचे 8 उपभाेक्ताओं ने सोमवार तक बिल जमा करवाने का भराेसा दिलाया।

खबरें और भी हैं...