मालिक के रुपए से नाैकर ने की माैज-मस्ती:उद्यमी काकू बंसल के 71.5 लाख रुपए लेकर फरार कर्मचारी ने ‌48 लाख रुपए का खेला जुआ, आरोपी काबू

पानीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत. पुलिस गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पानीपत. पुलिस गिरफ्त में आरोपी।
  • 10 लाख बिजनेस में लगाए और साेने की चेन और माेबाइल भी खरीदा

शहर के प्रसिद्ध उद्यमी एवं प्राचीन देवी मंदिर के प्रधान काकू बंसल के रुपए में नाैकर ने खूब माैज-मस्ती की। 71.5 लाख रुपए लेकर फरार हुए नाैकर ने 48 लाख रुपए का जुआ खेला और हार गया। 10 लाख रुपए बिजनेस में लगा दिए और शाैक के लिए साेने की चेन व नया माेबाइल भी खरीद लिया। गुरुवार काे पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। उससे 11 लाख 12 हजार 500 रुपए बरामद हुए हैं। शुक्रवार काे काेर्ट ने उसे 6 दिन की पुलिस रिमांड पर साैंपा है। रिमांड के दाैरान उससे बाकी के रुपए बरामद करने के साथ ही गहनता से पूछताछ की जाएगी।

देवी पूर्ति काॅलाेनी निवासी काकू बंसल की पचरंगा बाजार में बंसल वूलन के नाम से शाेरूम है। उन्हाेंने बताया कि तहसील कैंप के जवाहर नगर निवासी 25 वर्षीय आशीष गुप्ता उर्फ आशू पुत्र सुनील गुप्ता उनके पास कलेक्शन और ऑर्डर लेने का काम करता था। असंल में एक व्यक्ति की पेमेंट देनी थी। 3 अगस्त की सुबह करीब 10 बजे आशू काे 11.50 लाख रुपए देकर अंसल भेजा था।

करीब डेढ़ घंटे पेमेंट नहीं मिलने पर व्यक्ति ने काकू बंसल काे काॅल लगाया ताे उन्हाेंने आशू काे फाेन लगाया। तब उसके दाेनाें नंबर बंद मिले। तब सिटी थाने में शिकायत दी। फिर उनकाे पता चला कि पंचरंगा बाजार में एक डीलर से भी आशू उनके 60 लाख रुपए लेकर गया था। अगले दिन उन्हाेंने दूसरी शिकायत दी। प्रधान बंसल ने बताया कि डीलर काे माल दे दिया था। आशू ने उनसे 26 जून से 3 अगस्त के बीच में 60 लाख रुपए लिए। पेमेंट के बारे में पूछने पर आशू कहता था कि डीलर ने एक माह का समय मांगा है।

दोस्तों के जरिए माता-पिता ने आशू को करनाल में पकड़ा, रुपए लेकर बंसल के पास पहुंचे

आशू के लापता हाेने के बाद परिजनाें ने भी सिटी थाने में 5 अगस्त काे गुमशुदगी का केस दर्ज करा दिया था। इसके बाद परिजन उसकाे अपने स्तर पर तलाश कर रहे थे। काकू बंसल के बेटे सयंम ने बताया कि गुरुवार काे दाेस्ताें के जरिए पता चलने पर माता-पिता ने आशू करनाल में पकड़ा। उसके पास से 11 लाख 12 हजार 500 रुपए मिले। तब वे बेटे व रुपए लेकर दुकान पर पहुंचे। इसके बाद उसे पुलिस के हवाले किया गया। इसके बाद अन्य साथियाें काे भी हिरासत में लिया गया।

जुए में हारता चला गया रुपए
सयंम बसंल के अनुसार प्रारंभिक पूछताछ में आशू ने कबूला कि दाेस्त के साथ मिलकर उसने बनियाें के शमशान के पास बैग बनाने की फैक्ट्री लगाई है। इसमें 10 लाख रुपए इनवेस्ट किया। इसके अलावा किक्रेट व टेनिस के जुए में वह करीब 48 लाख रुपए हार गया। एक बुग्गी वाला पानीपत और दूसरा गुजरात के अहमदाबाद का है। दाे दिन पहले ही उसने एक बुग्गी वाले काे 20 लाख रुपए की पेमेंट की थी।

सिटी थाने के एसएचओ सुनील कुमार ने बताया कि 1112500 रुपए बरामद कर आराेपी आशू काे 6 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है। अभी जुआ खेलने की बात की पुष्टि नहीं हुई। रिमांड के दाैरान गहनता से पूछताछ के बाद ही पता चला कि बाकी के रुपए कहां दिए और कैसे खर्च हुए। जुए के साथ गर्लफ्रेंड काे रुपए देने के एंगल पर भी जांच कर रहे हैं। जल्द ही पूरे मामले का खुलासा करें।

खबरें और भी हैं...