पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कॉलेज एग्जाम:ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड में हाेंगी परीक्षाएं, वेब कैम या माेबाइल कैमरे को रखना हाेगा ऑन

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूजी-पीजी की 13 और बीएड फाइनल की 27 जुलाई से होंगी परीक्षाएं

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, कुरुक्षेत्र द्वारा इस बार यूजी और पीजी की परीक्षाएं ऑनलाइन व ऑफलाइन दाेनाें माेड में आयाेजित की जा रही हैं। परीक्षार्थियाें काे उत्तर पुस्तिका गूगल फाॅर्म पर अपलाेड करनी हाेगी। यूनिवर्सिटी द्वारा इसके लिए लिंक जारी किया जाएगा। परीक्षार्थी काे वेब कैम या मोबाइल कैमरा ऑन कर परीक्षा देनी होगी।

माेबाइल की लाेकेशन भी ऑन रहेगी। यूजी-पीजी सेमेस्टर की परीक्षाएं 13 जुलाई से शुरू हाेंगी। बीएड फाइनल की परीक्षाएं 27 जुलाई से शुरू हाेंगी। इसकाे लेकर यूनिवर्सिटी ने शेड्यूल जारी कर दिया है। डेटशीट केयू की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दी गई है।

गूगल फाॅर्म का लिंक जारी किया जाएगा, इसकी मदद से भेजेंगे उत्तर पुस्तिका

एसडी पीजी काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. अनुपम अराेड़ा ने बताया कि विद्यार्थियों की समस्याओं को देखते हुए इस बार भी पेपर की उत्तर-पुस्तिका अपलोड करने के लिए गूगल फाॅर्म का लिंक जारी किया जाएगा। ताकि परीक्षार्थी काे उत्तर-पुस्तिका भेजने के लिए ई-मेल बाउंस या ई-मेल फेल जैसी किसी भी तकनीकी समस्या का सामना न करना पड़े।

इसके लिए जल्द ही लिंक जारी कर दिया जाएगा। इसकी मदद से परीक्षार्थी उत्तर-पुस्तिका समय रहते संबंधित विभाग/संस्थान व काॅलेज में भेज सकेंगे। इसके लिए संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को गूगल फाॅर्म का लिंक तैयार कर सभी परीक्षार्थियों के पास भेजना होगा।

4 घंटे में पूरा करना हाेगा 100 अंक का पेपर

4 घंटे में ही 100 अंक का पेपर साॅल्व करना हाेगा। ए-फाॅर साइज के अधिकतम 36 पेज इस्तेमाल कर सकते हैं। प्रश्न-पत्र डाउनलोड करके परीक्षा संबंधित विवरण व रोल नंबर पेज पर लिखना होगा। मोबाइल नंबर व अन्य कोई सूचना नहीं लिखेंगे।

ई-मेल से काॅलेज में भेजा जाएगा प्रश्न पत्र

सुबह व सायंकालीन सत्र में होने वाली परीक्षाओं में सुबह सत्र वाला पेपर सुबह 9.15 और शाम सत्र वाले पेपर दाेपहर 1.15 बजे ई-मेल के माध्यम से काॅलेज में भेजे जाएंगे। वहां से सुबह 9.30 बजे और दोपहर 1.30 बजे तक प्रश्नपत्र परीक्षार्थी को भेजे जाएंगे।

स्पेशल ऑब्जर्वर की नियुक्ति पर विचार

जरूरत पड़ने पर स्पेशल ऑब्जर्वर नियुक्त किए जाने पर विचार किया जा रहा है। ऑनलाइन विद्यार्थियों पर परीक्षा ऑब्जर्वर नजर रखेंगे, ताकि विद्यार्थी नकल न कर सकें। ऑफलाइन के लिए परीक्षा केंद्र अधीक्षक व निरीक्षकों की नियुक्ति की जाएगी।

खबरें और भी हैं...