पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसान आंदोलन:आज से जंतर-मंतर पर किसान संसद; 4 बसों में पुलिस सुरक्षा में रोज 200 आंदोलनकारी जाएंगे

पानीपत/राई13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिनभर पुलिस अधिकारियों के साथ बैठकों का दौर, शाम को एलजी ने दी प्रदर्शन की अनुमति

तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ गुरुवार से 9 आंदोलनकारी दिल्ली के जंतर-मंतर पर किसान संसद लगाएंगे। बुधवार को दिनभर चले बैठकों के दौर के बाद देर शाम दिल्ली के उप राज्यपाल (एलजी) ने किसानों को 9 अगस्त तक जंतर-मंतर पर जाकर विरोध-प्रदर्शन करने की सशर्त अनुमति दे दी। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने वहां सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वहीं, किसान संयुक्त मोर्चा ने तय किया कि कुंडली बॉर्डर से सुबह 9:00 बजे 200 किसानों का जत्था 4 बसों से दिल्ली के लिए रवाना होगा।

इन किसानों को आई कार्ड जारी किए गए हैं। बसों के साथ एक एसयूवी में 6 किसान नेताओं का ग्रुप अगुवाई करेगा। प्रदर्शन में जाने वाले सभी किसान इनकी निगरानी में रहेंगे। किसानों को पुलिस सुरक्षा में जंतर-मंतर तक ले जाया जाएगा, जहां वे संसद की तर्ज पर ही कुर्सियां आदि लगाकर किसान संसद लगाएंगे। इसका समय सुबह 11:00 से शाम 5:00 बजे तक रहेगा। किसान नेताओं की तरफ से कहा गया है कि वे शांति से जाकर प्रदर्शन करेंगे। पुलिस रास्ते में रोकेगी तो वहीं बैठ जाएंगे।

कुंडली बॉर्डर पर एक तरफ के रास्ते को खुलवाने की मांग को लेकर आसपास के गांवों के लोग पैदल मार्च निकालने के लिए एकजुट हुए। इस पर संयुक्त किसान मोर्चा ने पैदल मार्च को रोकने के लिए किसानों को केएमपी के पुल के नीचे बुला लिया। किसानों के हाथों में लाठियां, तलवार व कृपाण थी। ऐसे में टकराव की आशंक को देखते हुए पुलिस ने बैरिकेड्स लगा ग्रामीणों को एजुकेशन सिटी के पास ही रोक दिया। ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने आश्वासन दिया कि प्रशासन मोर्चा के नेताओं से रास्ता खुलवाने के लिए बातचीत करेगा। इसके बाद ग्रामीण शांतिप्रिय तरीके से लौट गए।

ये रहेंगी शर्तें: रोज प्रदर्शनकारियों की लिस्ट पुलिस को देनी होगी

  • रोज सिर्फ 200 किसानों को तय बसों में ही जाना होगा।
  • किसानों की जिम्मेदारी के लिए 6 सदस्यीय कमेटी बनाई।
  • कमेटी में किसान नेता रखे गए। इनमें 3 पंजाब से रहेंगे।
  • कमेटी के सदस्य एसयूवी गाड़ी में बसों के साथ रहेंगे।
  • प्रदर्शन में जाने वालों को आईकार्ड जारी कर नामों की लिस्ट रोज दिल्ली पुलिस के पास जमा करानी होगी।
  • प्रदर्शनकारी किसानों को संसद से करीब 2 किमी दूर जंतर-मंतर या पार्लियामेंट स्ट्रीट पर जगह दी जाएगी।
  • प्रदर्शन आदि के बाद शाम 5:00 बजे तक लौटना होगा।
  • सभी को कोरोना संबंधी गाइडलाइंस का पालन करना होगा।

किसानों की तैयारी: संसद की तर्ज पर कुर्सियां लगाकर बहस करेंगे

  • 40 जत्थेबंदियों से रोज 5-5 सदस्यों को भेजा जाएगा।
  • यूनियनों से नाम लिए गए हैं। जिम्मेदारी भी यूनियन की होगी।
  • सभी को आईकार्ड जारी किए हैं। सभी बॉर्डर से लोग कुंडली बॉर्डर पर इकट्‌ठे होंगे। यहीं से ही दिल्ली जाएंगे।
  • किसानों संग पहले दिन किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल, योगेंद्र यादव, हन्नान मोल्लाह, रलदू सिंह मानसा आदि रहेंगे।
  • तय जगह पर संसद की तर्ज पर कुर्सियां लगाई जाएंगी। उसी तरह सवाल उठाने व बहस आदि की प्रक्रिया चलेगी।
  • प्रदर्शनकारियों के लिए दिल्ली के गुरुद्वारे से खाना आएगा।
  • सभी किसान संयुक्त मोर्चा के बैनर तले ही जाएंगे।

पुलिस की तैयारी: सुरक्षा बलों की रास्ते में भी तैनाती, ड्रोन से निगरानी

  • कुंडली बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस के 2500 और पैरामिलिट्री के 3 हजार जवान तैनात रहेंगे। सुरक्षा बलों के जवान कुंडली बॉर्डर से लेकर जंतर-मंतर तक रास्ते में भी तैनात रहेंगे।
  • जंतर-मंतर पर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स को पहले से ही तैनात कर दिया गया है। किसानों की बसों को एस्कॉर्ट करने के लिए भी पुलिस की गाड़ियां तैनात रहेंगी।
  • दिल्ली जाने वाले सभी रास्ते सर्विलांस पर रहेंगे। कुंडली से जंतर-मंतर तक निगरानी के लिए ड्रोन की व्यवस्था है।
  • दंगारोधक फोर्स, वाटर कैनन और आंसूगैस जैसी व्यवस्थाओं को स्टैंड बाई पर रखा है।

दिनभर चलीं बैठकें

संसद कूच को लेकर बुधवार को दिनभर बैठकों का दौर चला। पहले किसानों ने बैठक की। इसके बाद संसद कूच के लिए बनी 9 सदस्यीय कमेटी ने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के साथ मीटिंग की, पर सहमति नहीं बनी। पुलिस अधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर देर शाम एलजी ने जंतर-मंतर पर प्रदर्शन की परमिशन दी। इसके बाद पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक में गाइडलाइंस तय हुईं।

चढ़ूनी का सस्पेंशन खत्म

मोर्चा ने ‘मिशन पंजाब’ की जिद पर अड़े किसान नेता गुरनाम चढ़ूनी को एक सप्ताह के लिए सस्पेंड किया था। अब यह समय समाप्त हो गया है। 200 लोगों के जत्थे में चढ़ूनी की यूनियन से भी सदस्य शामिल किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...