• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Farmers Unhappy With Slow Process On Paddy Procurement Start, Numbers Coming In Several Days, Prices Are Getting Better Than Last Year

धान का धीमा उठान, अन्नदाता परेशान:खरीद प्रक्रिया की रफ्तार कम होने से कई-कई दिन बाद आ रहा है किसानों का नंबर, पिछले साल के मुकाबले मिल रहे अच्छे दाम

पानीपत3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पीआर धान की खरीद शुरू होने के बावजूद उठान की प्रक्रिया धीमी होने से किसान परेशान हैं। फसल का उठान न होने के कारण बहुत देरी से नंबर आ रहा है। अन्नदाता को कई-कई दिन तक मंडी में रुकना पड़ रहा है। किसान की खुले आसमान में के नीचे पड़ी होने से उसकी चिंता लगातार बढ़ रही है। इससे पहले धान की खरीद शुरू कराने के लिए किसानों को जाम लगाना पड़ा था। पानीपत जिले में इसराना, पानीपत, बाबरपुर व समालखा मंडी में हजारों क्विंटल पीआर धान की आवक हो चुकी है। मंडियों में किसानों को खरीद का इंतजार लंबा करना पड़ रहा है। किसान कई-कई दिन तक फसल की रखवाली करने को मजबूर हैं। अधिकारी मंडियों का निरीक्षण करने तो आते हैं, लेकिन समस्या का समाधान नहीं कर पा रहे हैं।

इसराना में किसानों ने की तालाबंदी
जिले की इसराना मंडी में अभी तक केवल ढाई हजार क्विंटल के करीब पीआर धान की खरीद हो पाई है। किसान कई दिनों से धान लेकर मंडी में खरीद का इंतजार कर रहा है। मंगलवार को मंडी में खरीद नहीं हो सकी तो गुस्साएं किसानों ने मार्केट कमेटी कार्यालय पर तालाबंदी कर नारेबाजी की। कमेटी सचिव व कर्मचारियों को कई घंटे धूप में साथ बैठाए रखा। सूचना पर डीएम हैफेड मौके पर पहुंचे और उन्होंने बुधवार से खरीद का आश्वासन दिया तो किसानों ने ताला खोलने के साथ धरना समाप्त किया।

1509 को अच्छा दाम
जिले में 75 हजार हेक्टेयर के करीब धान की रोपाई हुई थी। इसमें 1509, 1718, 1121, पीआर, मुच्छल, बासमती, सरबती आदि किस्में शामिल हैं। 1509 की आवक अपने चरम पर है। इस बार 1509 किस्म को पिछले साल के मुकाबले अच्छा भाव मिल रहा है। पिछले साल जहां किसान को 1800 से 2000 का भाव मिला था। अबकी बार 3200 से 3300 तक का भाव मिल रहा है। वहीं, 1121 की आवक शुरू हो चुकी है। उसे भी 3500 के पार का भाव मिला है। ऐसे में एक तरफ जहां उक्त किस्मों का अच्छा भाव मिलने से किसान खुश दिख रहा है, वहीं पीआर की खरीद न होने से वो निराश भी है।

खबरें और भी हैं...