• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Flu Corner Will Start From Next Week In Civil, Prescription And Medicine Will Be Available There, Investigation Of Corona Infection Will Be Done In The Nearby Room

​​​​​​​लाइन वाइज सुविधा:सिविल में अगले सप्ताह से शुरू हाेगा फ्लू काॅर्नर, पर्ची और दवा वहीं मिलेगी, पास वाले कमरे में होगी काेराेना संक्रमण की जांच

पानीपत16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में फ्लू काॅर्नर का निरीक्षण करते पीएमओ डाॅ. संजीव व अन्य अधिकारी। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में फ्लू काॅर्नर का निरीक्षण करते पीएमओ डाॅ. संजीव व अन्य अधिकारी।
  • पीएमओं डाॅ. संजीव ग्राेवर, एसएमओं , डिप्टी एमएस डाॅ. अमित पाेरिया व डाॅ. केतन ने देखी जगह

सिविल अस्पताल की नई बिल्डिंग के गेट के पास ही फ्लू काॅर्नर खाेला जाएगा। इसके लिए गुरुवार काे पीएमओं डाॅ. संजीव ग्राेवर, एसएमओं डाॅ. श्यामलाल, डिप्टी एमएस डाॅ. अमित पाेरिया और डाॅ. केतन ने देखी जगह देखी और फाइनल की। यहां सीरियल वाइज हाेगा। जैसे सबसे पहले वाले कमरे में पर्ची कटेगी, उससे अगले कमरे में काेराेना सैंपलिंग हाेगी।

इससे अगले कमरे में ड्यूटी डाॅक्टर बैठा हाेगा, जिससे मरीज अपनी जांच करा सकता है। इतना ही नहीं मरीज डाॅक्टर काे दिखानेे के बाद अगले ही कमरे से दवा भी ले सकता है। बता दें कि मेडिसिन ओपीडी में खांसी-बुखार के मरीजों की लंबी कतार दिखती है। पहले ये फ्लू काॅर्नर पुरानी बिल्डिंग में चल रहा था, लेकिन अब उसे गिरा दिया गया है, अब इसे नई बिल्डिंग में चलाया जाएगा।

इसलिए पड़ी जरूरत

दरअसल, कोरोना संक्रमण, डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, वायरल बुखार और खांसी के मरीजों की ओपीडी में भीड़ न बढ़े, इसके लिए सरकार ने फ्लू कार्नर खोलने के निर्देश दिए हैं। अस्पताल में प्रत्येक दिन 1000 से 1300 तक मरीज पहुंचते हैं। अस्पताल में रजिस्ट्रेशन विंडो, ओपीडी के बाहर और दवा विंडो पर लंबी कतार लग जाती है। मेडिसन ओपीडी में करीब 300 मरीज पहुंचते हैं। एक-दूसरे से सटकर खड़े होते हैं। इसी प्रेशर को कम करने के लिए काॅर्नर शुरु होगा।

अब नहीं होती स्क्रीनिंग

कोविड-19 की गाइडलाइन के तहत ओपीडी ब्लाॅक में प्रवेश के समय हर मरीज-तीमारदार का थर्मल सेंसर से तापमान जांचा जाता था। हाथों को सैनिटाइज कराने के भी इंतजाम थे। मास्क पहनने के निर्देश दिए जाते थे, चालान भी काटे जाते थे। अब लंबे समय से यह कवायद भी बंद हैं।

डेंगू-मलेरिया मरीजों की बढ़ रही संख्या: इधर, जिले में मलेरिया, डेंगू, वायरल, टाइफाइड के आशंकित मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। अस्पताल के पीएमओं डाॅ. संजीव ग्राेवर ने बताया कि फ्लू काॅर्नर के लिए जगह फाइनल हाे चुकी है। सुबह 9 से शाम 5 या 6 बजे तक रनिंग में रहेगा।

खबरें और भी हैं...