पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धरती के भगवान भी चपेट में:अप्रैल से अब-तक 927 परिवारों के 4800 से ज्यादा लाेग संक्रमित हाे चुके, 122 लोग गंवा चुके हैं जान

पानीपत, समालखा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीते एक महीने में 36 डाॅक्टर संक्रमित हाे चुके हैं। इसमें 23 डाॅक्टर सरकारी अस्पताल के हैं। - Dainik Bhaskar
बीते एक महीने में 36 डाॅक्टर संक्रमित हाे चुके हैं। इसमें 23 डाॅक्टर सरकारी अस्पताल के हैं।
  • कोरोना के नाेडल अधिकारी डाॅ. सुनील संडूजा, 3 अन्य डाॅक्टरों समेत 668 नए केस मिले
  • एक माह में 36 डाॅक्टर संक्रमित हाे चुके, पेंडिंग रिपाेर्ट अब घट रही

कोरोना की खतरनाक हो चली रफ्तार के बीच डॉक्टरों का संक्रमित होना एक और मुसीबत बन रहा है। बीते एक महीने में 36 डाॅक्टर संक्रमित हाे चुके हैं। इसमें 23 डाॅक्टर सरकारी अस्पताल के हैं। मंगलवार काे 668 नए केस आए। इसमें काेराेना के नाेडल अधिकारी एवं डिप्टी सीएमओ डाॅ. सुनील संडूजा, चुलकाना की डाॅ. माेनिका, सिविल अस्पताल की डाॅ. सुनिधी, नंद विहार काॅलाेनी की डाॅ. मनीषा की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई हैं।

विभाग की रिपोर्ट में 11 मौतें जोड़ी गई हैं। इसमें तीन माैत अप्रैल महीने की जाेड़ी गई हैं। वहीं, काेराेना प्राेटाेकाॅल से 16 मृतकाें का संस्कार किया गया है। सुखद बात यह रही कि 441 लोगों ने कोरोना को मात दी है।

घर रहना जरूरी: क्योंकि केस और मौत के आंकड़े दोनों बढ़ रहे

ये है कोरोना की रफ्तार

अप्रैल से अबतक 927 परिवारों के 4800 से ज्यादा लाेग संक्रमित हुए हैं। इन 34 दिनों में 122 लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। इसमें 800 से ज्यादा 1 से 18 साल तक हैं। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 23 हजार 137 हाे चुकी हैं। इसमें 16 हजार 704 केस यानी 72 फीसदी केस ठीक हो चुके हैं। इनमें से 5 हजार 822 केस एक्टिव हैं। 325 केस अनट्रेस हैं। जिले में अब तक काेराेना से 286 लाेगाें की माैत हाे चुकी हैं। मंगलवार काे जिले में 1160 सैंपल लिए गए हैं।

रिकाॅर्ड में जुड़ीं 11 मौतें, 16 का कोविड नियम से संस्कार

इसमें चार मौत 19 से 29 अप्रैल के बीच की जोड़ी गई हैं। चार मौत मंगलवार को हुईं हैं और तीन मौत सोमवार को हुई हैं।

वेंटिलेटर न मिलने से पत्रकार की मौत: समालखा में सोमवार रात को वेंटिलेटर की कमी से 45 वर्षीय हिंदी अखबार के पत्रकार सत्य प्रकाश सैनी की मौत हो गई। सत्य प्रकाश ने लोगों की जान बचने के लिए कई बार रक्त दान कर चुके थे। पिछले लॉकडाउन में दिन रात शेल्टर होम में प्रवासी मजदूरों की सेवा की थी। छोटे भाई सुनील ने बताया कि 5 दिन पहले उनकी ऑक्सीजन कम हो गई थी।

उन्हें समालखा के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वेंटिलेटर न होने से डॉक्टर ने पानीपत ले जाने की बात कही। पानीपत अस्पताल के नजदीक पहुंचते ही उनकी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें