पानीपत रोडवेज GM की बड़ी कार्रवाई:बिना परमिट सवारियां ढो रही UP की 3 बसें इंपाउंड, 10 इको वैन के काटे लाखों के चालान

पानीपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अवैध बसों और इको वैन का चालान काटते पानीपत रोडवेज डिपो जीएम कुलदीप जांगड़ा। - Dainik Bhaskar
अवैध बसों और इको वैन का चालान काटते पानीपत रोडवेज डिपो जीएम कुलदीप जांगड़ा।

हरियाणा के पानीपत जिले में पिछले काफी समय से प्राइवेट बसों में राज्य से यूपी तक अवैध रुप से सवारियां ढोने का काम चल रहा है। इतना ही नहीं, इन बसों के अलावा पानीपत से विभिन्न जिलों एवं राज्यों में इको वैन भी सवारियां ढोने का काम कर रही हैं। लगातार इनकी शिकायतें सामने आने के बाद गुरुवार को पानीपत रोडवेज डिपो के जीएम कुलदीप जांगड़ा फील्ड में उतरे।

उनके साथ टीम में मोटर-व्हीकल ऑफिसर राकेश शर्मा व यातायात प्रबंधक पंकज भी शामिल रहे। टीम ने संयुक्त रुप से कार्रवाई करते हुए जीटी रोड पर बस स्टैंड के सामने से यूपी नंबर की तीन बसों को सवारियों सहित पकड़ा। पूछताछ में सामने आया कि इन तीनों बस बिना परमिट के अवैध रूप से सवारियां ढोने का काम कर रही हैं। तीनों बसों में लंबे समय से इसी तरह अवैध रुप से सवारियां ढोई जा रही थी। इन तीनों बसों को इंपाउंड कर लिया गया है।

बस स्टैंड के सामने पुल के नीचे खड़ी प्राइवेट बस का चालान काटते रोडवेज जीएम व टीम।
बस स्टैंड के सामने पुल के नीचे खड़ी प्राइवेट बस का चालान काटते रोडवेज जीएम व टीम।

सनौली रोड पर 10 इको वैन के काटे चालान

इसके बाद टीम सनौली रोड पहुंची। जहां से भी अवैध रुप से सवारियां ढो रही इको वैन पर शिकंजा कसा। एक के बाद एक कुल 10 इको वैन को टीम ने पकड़ा। सभी इको वैन बिना परमिट के अवैध रूप से सवारियां ढो रही थी। रोडवेज डिपो जीएम ने 10 इको वैन के चालान काटे। कुल मिलाकर करीब ढाई से तीन लाख रुपए के चालान काटे गए। रोडवेज जीएम ने चेतावनी देते हुए कहा है कि वे किसी भी सूरत में कोई भी अवैध काम बर्दाश्त नहीं करेंगे।

गौरतलब है कि रोडवेज जीएम कुलदीप जांगड़ा ने महज 10 दिन पहले यानि 3 जनवरी को ही पानीपत का कार्यभार संभाला है। कार्यभार संभालने के करीब चार दिन बाद ही उन्होंने सबसे पहली और बड़ी कार्रवाई अपने ही स्टाफकर्मियों पर की थी। उन्होंने 2 चालक और 4 परिचालक समेत कुल छह को विभिन्न अनिमियताओं के चलते सस्पेंड किया था। यहां तक एक परिचालक के खिलाफ पुलिस को शिकायत देकर गबन करने का आरोप लगाकर दर्ज करने को कहा है।