जू से आई गुड न्यूज / लॉकडाउन के बीच कुरुक्षेत्र के पिपली जू से आई गुड न्यूज, तीन शावकों की मां बनी साक्षी, बच्चों से अलग रहेंगे ‘गीत’

शावकों को दुलारती शेरनी साक्षी। शावकों को दुलारती शेरनी साक्षी।
X
शावकों को दुलारती शेरनी साक्षी।शावकों को दुलारती शेरनी साक्षी।

  • एक शावक ने तोड़ा दम, संक्रमण न हो इसलिए मां ने खुद उसे अलग किया

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:40 AM IST

पानीपत. (सुशील भार्गव ) लॉकडाउन के बीच गुड न्यूज आई है। कुरुक्षेत्र के पिपली जू में शेरनी साक्षी ने 3 शावकों को जन्म दिया है। इनमें से दो स्वस्थ हैं। एक शावक ने कमजोरी में दम तोड़ दिया। बड़ी बात यह है कि अबकी बार साक्षी शावकों को अपना दूध पिला रही है। शावकों के पिता लॉयन गीत को सुरक्षा की दृष्टि से फिलहाल बच्चों से अलग कर दिया गया है। हालांकि, इस दौरान लॉयन गीत काफी गुर्राया भी। साक्षी पर सीसीटीवी से ही नजर रखी जा रही है। वेटरनरी सर्जन डॉ. अशोक खासा पूरी निगरानी कर रहे हैं। पल-पल की रिपोर्ट स्टेट मुख्यालय भेजी जा रही है। अभी कोई पास नहीं जा रहा, बाद में ही पता चलेगा कि शावक मेल हैं या फीमेल हैं।

किसी कर्मचारी को भी पास नहीं जाने दिया जा रहा, सीसीटीवी से मूवमेंट पर नजर

गीत से डर रही थी, तब अलग किया
जू के कर्मचारियों ने पिछले एक माह से रोज साक्षी पर नजर रखी। जब एक शावक की मौत हो गई तो कानपुर जू से राय ली गई। वहां से बताया गया कि साक्षी के पास कोई न जाए। मृत शावक को साक्षी खुद दूर कर देगी। शावकों के पिता लॉयन गीत को भी उनसे दूर करने को कहा गया, क्योंकि साक्षी गीत से डर रही थी। वह शावकों के पास से खड़ी नहीं हो रही थी। गीत को जब दूर किया गया तो वह काफी गुर्राया। गीत के दूर होते ही साक्षी ने शावकों को दूध पिलाना शुरू कर दिया।

...तो शावकों को एडॉप्ट नहीं करेगी
डिप्टी चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन श्याम सुंदर कौशिक ने बताया कि फिलहाल साक्षी व दोनों शावकों पर सीसीटीवी से नजर रखी जा रही है। इसी से पता चला कि जिस शावक की मौत हो गई थी, उसे साक्षी ने खुद जिंदा शावकों से दूर कर दिया, ताकि उन्हें किसी तरह का संक्रमण न हो। अब तीनोंे के हर मूवमेंट को देखा जा रहा है। खाने आदि का चार्ट बनाया गया है। उसे खुराक में चिकन दिया जा रहा है। कोई भी वन्य कर्मी इनके पास नहीं जा रहा। क्योंकि किसी की गंध आने के बाद यह शावकों को एडॉप्ट नहीं करेगी।


शावकों को दुलारती शेरनी साक्षी।
पिपली जू में साक्षी ने 17 मई को 3 शावकों को जन्म दिया। 48 घंटे बाद एक शावक की मौत हो गई। शावकों की आंख भी नहीं खुली है। साक्षी उन्हें खूब दुलार रही है। -आलोक वर्मा, पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ, हरियाणा

जूनागढ़ से लाया गया था जोड़ा
साक्षी व गीत को 2015 में गुजरात के जूनागढ़ से पिपली जू में लाया गया था। साक्षी की उम्र 8 व गीत की उम्र 10 साल है। 2 दिसंबर 2016 को साक्षी ने दो शावकों को जन्म दिया, लेकिन जिंदा नहीं रहे। 5 मई 2017 को साक्षी ने 3 शावकों को जन्म दिया, लेकिन ये भी नहीं बच सके। 7 जून 2018 को 5 शावकों को जन्म दिया। इनमें से दो की 24 घंटे बाद मौत हो गई थी। तीन को अमेरिका से दूध मंगाकर पिलाया गया। तीनों सुधा, गीता व अर्जुन फिलहाल रोहतक जू में हैं। अब 17 मई को 3 शावकों को जन्म दिया, एक की मौत हो गई, दो जिंदा हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना