पानीपत में मिनी लॉकडाउन के लिए गाइडलाइन:शाम 6 बजे के बाद दूध, मेडिकल और आवश्यक वस्तुओं की दुकानें ही खुलेंगी

पानीपत7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखकर हरियाणा के 11 जिलों में रेड जोन अलर्ट किया गया है। इन जिलों में पानीपत भी शामिल है। इसे देखते हुए जिले में शाम 6 बजे के बाद से मिनी लॉकडाउन और रात 11 बजे से नाइट कफ्यू को प्रभावी रूप से लागू रहेगा। डीसी एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन सुशील सारवान ने महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा के तहत कोविड-19 के मद्देनजर निर्देश जारी किए हैं। जिला पानीपत को ग्रुप-ए कैटेगरी में शामिल किया गया है।

नए आदेशों के अनुसार यहां सभी सिनेमा हॉल, थियेटर, मल्टीप्लेक्स, सभी खेल परिसर, स्टेडियम, स्वीमिंग पूल तुरंत प्रभाव से बंद रहेंगे। इनमें राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर के खेल आयोजनों की तैयारी कर रहे खिलाड़ियों के प्रशिक्षण के लिए उपयोग किए जाने वाले खेल परिसर इत्यादि को छूट प्रदान की गई है, लेकिन इनमें किसी भी दर्शक और आगंतुकों के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी।

इस दौरान मनोरंजन पार्को और बी-2 बी प्रदर्शनी निषेध रहेगी। सभी सरकारी और गैर सरकारी अधिकारी कार्यालयों में 50 प्रतिशत स्टाफ उपस्थित रहेगा। आपातकालीन और आवश्यक सेवाओं के लिए छूट प्रदान की गई है। बार और रेस्टोरेंट 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ खोलने की अनुमति रहेगी। मॉल्स और मार्केट शाम 6 बजे के बाद बंद होगी। दूध और मेडिकल सेवाओं से संबंधित दुकानें पूरे समय खोलने की अनुमति रहेगी।

कोरोना रोधी दो डोज लेने वाले ही होंगे अधिकृत

केवल वही व्यक्ति विभिन्न सार्वजनिक स्थानों सब्जी मण्डी, अनाज मंडी, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, पार्क, धार्मिक स्थानों, बार रेस्टोरेंट, होटल, डिपार्टमेंटर स्टोर, सिनेमा हॉल, स्थानीय बाजार, पेट्रोल/सीएनजी स्टेशन, एलपीजी सिलेंडर वितरण केंद्र , शुगर मिल, मिल्क बूथ, योगशाला, जिम, फिटनेस सेंटर, सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों और बैंकों में प्रवेश के लिए अधिकृत होंगे, जिन्होंने कोविड-19 की दोनों डोज ली होंगी। ट्रक और ऑटो रिक्शा यूनियन पूरी तरह से दोनों डोज प्राप्त लोगों को ही ट्रक और ऑटो चलाने की अनुमति देगी। 15 साल से ऊपर के पात्र लोगों को कोविड-19 वैक्सीनेशन लगवाना जरूरी होगा। सभी ऐसे लोग जिन्होंने दोनों डोज प्राप्त कर ली हैं वे अपने सर्टिफिकेट की सॉफ्ट और हार्ड कॉपी रखें। अगर दूसरी डोज नहीं लगी है तो पहले डोज की सर्टिफिकेट कॉपी जरूर रखें। आरोग्य सेतु ऐप पर भी वैक्सीनेशन स्टेटस चेक किया जा सकता है।

शिक्षण संस्थान रहेंगे बंद

स्कूल, कॉलेज, पॉलीटेक्नीक, आईटीआई, कोचिंग संस्थान, लाईब्रेरी, प्रशिक्षण संस्थान (सरकारी व गैर सरकारी), महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा चलाए गए आंगनबाड़ी केंद्र और क्रेच सेंटर तुरन्त प्रभाव से जिले में बंद करने के आदेश दिए गए हैं। अंतिम संस्कार में 50 और शादी में 100 से ऊपर की संख्या पर प्रतिबंध है और उसमें भी कोविड-19 के नियमों की पालना करनी होगी। स्थानीय निकाय और गैर सरकारी संगठन आमजन में मास्क वितरण कर सकेंगे। जिला में नो मास्क-नो सर्विस लागू किया गया है। मास्क न पहनने वाले, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना न करने वाले और कोविड-19 की डोज न लेने वालों पर 500 रुपये का चालान किया जाएगा। इसके साथ-साथ यह चालान संस्थागत रुप से 5 हजार रुपए का होगा। जुर्माना अदा न करने वाले के विरूद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 व 60 के तहत कार्रवाई होगी और आईपीसी की धारा 188 के तहत केस भी दर्ज होगा। पेट्रोल पंप, गैस स्टेशन, मेडिकल स्टोर, दवाइयों से संबंधित दुकानें और आवश्यक वस्तुओं की दुकानें आम जनहित में जब जरूरत हो खोली जा सकेंगी।

रात 11 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक आवाजाही प्रतिबंध

रात को 11 बजे से सुबह 5 बजे तक किसी भी तरह के आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। विभिन्न विश्वविद्यालयों और भर्ती करने वाली एजेंसियों द्वारा आयोजित करने वाली परीक्षाओं को जिला में संशोधित एसओपी के तहत परीक्षा संचालन करने की अनुमति होगी, जोकि केंद्र या राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी की जाती है। स्विमिंग पूल सोशल डिस्टेंसिंग नियमों की पालना करवाने के तहत खोले जा सकेंगे, लेकिन उसमें नियमित सैनिटाइजेशन और सभी नियमों का पालन करना जरूरी होगा। सभी तैराक और प्रशिक्षक, पात्र आगंतुक और स्टाफ को कोविड-19 वैक्सीन की दोनों डोज लगी हुई होनी चाहिए। धार्मिक स्थलों पर एक समय में 50 व्यक्तियों के प्रवेश की अनुमति होगी। उन सभी को सोशल डिस्टेंसिंग नियमों की पालना करना और नियमित सैनिटाइजेशन करना जरूरी होगा। सभी उत्पादन इकाइयां स्थापित उद्योगों में कामकाज की अनुमति होगी, वहां भी दिए गए नियमों और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करना जरूरी होगा।