पानीपत में युवक ने किया सुसाइड:2 महीने पहले छोड़ा था नशा, तब से रहता था परेशान, 2 बेटियों के सिर से उठा पिता का साया

पानीपत21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के पानीपत शहर के तहसील कैंप में एक युवक ने घर पर ही फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक को फंदे से लटका देख बेटी चिल्लाई और मां को सूचना दी। इसके बाद परिजनों ने मामले के बारे में पुलिस को बताया। पुलिस की मौजूदगी में शव को फंदे से नीचे उतारा गया और सिविल अस्पताल ले जाया गया। परिजनों के बयानों के आधार पर तहसील कैंप थाना पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 174ए के तहत कार्रवाई की।

दो माह पहले छोड़ा नशा, तब से रहता था परेशान
जानकारी देते हुए मुख्यतार सिंह ने बताया कि उसका दामाद शेरसिंह उर्फ शेरु (29) तहसील कैंप का रहने वाला था। उसकी आजीविका का साधन किराये पर दिए गए उसके मकानों से मिलने वाला पैसा था। वह पांच साल और तीन साल उम्र की दो बेटियों का पिता था। शेरसिंह शराब, सिगरेट आदि का खूब नशा करता था। दो माह पहले उसने अमृत चख कर नशा छोड़ने का फैसला लिया। इसके बाद उसकी नशे की पुरानी लत उसे खूब परेशान करने लगी। वह हर वक्त मानसिक रुप से परेशान रहने लगा। उसे नशा करने की बहुत ज्यादा इच्छा होती थी। मगर तमाम कारणों के चलते वह नशा नहीं कर पा रहा था। वह सुबह से शाम तक घर से गायब रहता था। वह सुबह लेट उठता था और रात को घर लेट आता था।

सिविल अस्पताल में शवगृह के बाहर खड़े परिजन।
सिविल अस्पताल में शवगृह के बाहर खड़े परिजन।

पापा को पंखे पर लटका देख चिल्लाई बेटी
गुरुवार रात करीब साढ़े 11 बजे शेरसिंह घर आया और सीधे अपने कमरे में चला गया। घर के एक कमरे में पत्नी हरजीत कौर दोनों बेटियों के साथ लेटी हुई थी। शेरसिंह अपने कमरे में चला गया। आज सुबह जब उसकी बेटी उठी तो वह पापा से मिलने उसके कमरे में चली गई। कमरे का दरवाजा बिना कुंडी लगाए बंद था। जैसे ही बेटी ने दरवाजा खोला तो उसने पापा को पंखे पर लटका देखा और चिल्लाने लगी। मौके पर पत्नी भी पहुंची और यह मंजर देख उसके भी पांव तले की जमीन खिसक गई।

17 दिन बाद है साली की शादी
ससुर मुख्यतार सिंह ने बताया कि उनकी छोटी बेटी की शादी 17 दिन बाद यानि 24 जनवरी को है। जिसकी तैयारियों के लिए भी शेरसिंह को कहना पड़ रहा था। काफी कहने सुनने के बाद गुरुवार को ही शेरसिंह ने अपना पैंट-कोट ड्राइक्लीन के लिए दिया था। घर पर खुशियों का माहौल था, जो एकदम गमगीन हो गया। मुख्यतार सिंह के मुताबिक शेरसिंह गोद लिया हुआ था। उसके मां-बाप, भाई-बहन कोई भी नहीं है।