गिराेह का पर्दाफाश:सरकारी परीक्षाओं में कंप्यूटर काे रिमोट पर ले साॅल्व कराते थे पेपर, 6 गिरफ्तार

पानीपत9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईआईटी में 100 से ज्यादा अभ्यर्थियाें काे पास करा चुके आराेपी। - Dainik Bhaskar
आईआईटी में 100 से ज्यादा अभ्यर्थियाें काे पास करा चुके आराेपी।
  • 5 साल से सरकारी परीक्षाओं में अभ्यर्थियाें काे पास करा रहे थे

साेनीपत व गुड़गांव एसटीएफ ने सरकारी परीक्षाओं में हेराफेरी कर अभ्यर्थियों काे पास कराने वाले गिराेह का पर्दाफाश कर गुरुवार काे एक लाख के ईनामी कंप्यूटर लैब संचालक, 50 हजार के ईनामी उसके साथी समेत 6 आराेपियाें काे गिरफ्तार किया है। इन्हाेंने देश के विभिन्न स्थानाें पर कंप्यूटर लैब बना रखी हैं। इसमें से एक लैब पानीपत में टाेल प्लाजा के नजदीक एपिट इंजीनियरिंग काॅलेज में भी थी।

यहां हाल में हुई आईआईटी जेईई परीक्षा में 100 से ज्यादा अभ्यर्थियाें काे पास कराया था। पानीपत एसपी शशांक कुमार सावन ने प्रेसवार्ता कर बताया कि परीक्षा हैक के संबंध में जांच कर रही सीबीआई से इनपुट मिला था। 13 सितंबर काे भिवानी सदर थाने में केस दर्ज हुआ। एसटीएफ ने हरियाणा पुलिस के एसआई नरवीर काे गिरफ्तार किया।

मामले में फरार साेनीपत के गाेरड निवासी अशाेक उर्फ शाेकी पर एक लाख रुपए और साथी माेनू पर 50 हजार का इनाम घाेषित हुआ। बाद में पता चला कि अशाेक व उसके साथियाें ने एपिट काॅलेज में लैब बना रखी है। बुधवार काे सिक्याेरिटी इंचार्ज प्रमाेद की शिकायत पर 7 लाेगाें के खिलाफ सेक्टर-13/17 थाने में केस दर्ज हुआ।

गुरुवार काे एसटीएफ ने साेनीपत से शाेकी, माेनू व उनके गांव के अशीष काे गिरफ्तार किया। वहीं, दूसरी टीम ने गिराेह के 3 आराेपियाें राजस्थान के जयपुर निवासी आकाश पुत्र रामस्वरूप और आकाश पुत्र रामप्रताप गाैड़ व दाैसा निवासी गाैरी काे महाराष्ट्र के नागपुर से गिरफ्तार किया। नामजद श्यामला कलां निवासी आशीष समेत 30 आराेपी अभी फरार हैं।

इस तरह परीक्षा पास कराता था गिराेह

एसपी ने बताया कि गिराेह में सबके काम अलग थे। काेचिंग संस्थान वाले अभ्यर्थियों काे तलाश कर गिराेह तक पहुंचाते थे। ऑनलाइन परीक्षा के लिए गिराेह लैब के कंप्यूटर में साॅफ्टवेयर डाउनलाेड कर दूसरे कंप्यूटर पर रिमोट पर लेते थे। बैंगलोर व जयपुर समेत देश के अन्य जगहाें पर बैठे साॅल्वर पेपर हल करते थे। वहीं, ऑफलाइन परीक्षा में गिराेह अभ्यर्थी की जगह दूसरे से परीक्षा दिलवाते थे। गिराेह का नेटवर्क हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, बिहार व राजस्थान सहित अन्य कई प्रदेशों तक फैला है।

खबरें और भी हैं...