धार्मिक स्थलों का बनाया ढाल:माॅडल टाउन में रजबाहे की जमीन पर किए कब्जे बचाने को धार्मिक स्थलों काे ढाल बना रहे कब्जाधारी

पानीपत16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
माॅडल टाउन रजवाहे की जमीन पर कब्जा करने वाले के मकान पर नहरी विभाग ने चिपकाया नाेटिस। - Dainik Bhaskar
माॅडल टाउन रजवाहे की जमीन पर कब्जा करने वाले के मकान पर नहरी विभाग ने चिपकाया नाेटिस।
  • असंध राेड से जाटल राेड के बीच बंद पड़े रजबाहे की जमीन पर पहले 87 और अब 25 कब्जाधारियों ने बनाए पक्के घर, जमीन कब्जामुक्त कराने को डीसी ने एटीपी काे ड्यूटी मजिस्ट्रेट किया नियुक्त

शहर के सबसे पाॅश एरिया में शामिल असंध राेड से जाटल राेड तक नहरी विभाग की रजबाहा वाली जमीन पर 112 अवैध कब्जे हैं। नहरी विभाग ने सभी कब्जाधारियाें काे खुद ही हट जाने के आदेश जारी किए हैं। नोटिस आते ही ये लाेग धार्मिक आस्था के नाम पर स्थानीय लाेगाें काे भड़काने में जुट गए हैं। इन कब्जाधारियाें का तर्क है कि इस जमीन पर कई मंदिर बने हुए हैं। नहरी विभाग ने इन मंदिराें काे हटाने के लिए भी नाेटिस चस्पाए हैं। वहीं, कुछ शहरवासियाें का कहना है कि सरकारी जमीन पर धार्मिक स्थल बनाकर कब्जा करने के आसान तरीके बनाए जाते हैं।

असंध राेड नाका चाैकी से लेकर शुगर मिल तक नहरी विभाग का पुराना रजबाहा हाेता था। अब यह पूरी तरह से बंद है। इस तरह लंबे समय तक तत्कालीन अधिकारियों व कर्मचारियों की अनदेखी के कारण स्थानीय लाेग इस रजबाहे की जमीन पर अवैध कब्जे करते चले गए। अब नहरी विभाग ने अवैध कब्जाें से जमीन मुक्त कराने के लिए कब्जाधारियाें काे नाेटिस दिए हैं। जिन्हाेंने नाेटिस रिसीव नहीं किए या जाे लाेग माैके पर माैजूद नहीं मिले, उनकाे घराें की दीवाराें या गेट पर नाेटिस चस्पा दिए हैं।

नहरी विभाग के अनुसार पुराना रजबाहे की जमीन पर पुराने 87 अवैध कब्जे हैं। इनके बाद हाल ही के कुछ वर्षाें में 25 और नए अवैध कब्जे हाे गए। इस तरह पूरी जमीन पर करीब 112 कच्चे व पक्के मकान बन चुके हैं। आसपास लगते कई मकान मालिकाें ने जमीन में चारदीवारी खड़ी कर उसमें अवैध तरीके से पार्किंग बना रखी हैं।

नहरी विभाग ने इससे पहले भी इस जमीन का अवैध कब्जाें से मुक्त कराया था। खुद तत्कालीन एसपी व डीसी माैके पर पहुंचे थे। भारी पुलिस बल के साथ चली जेसीबी के द्वारा कब्जाधारियाें से पूरी जमीन काे अवैध कब्जाें से मुक्त कराया था। उसके बाद फिर से कब्जे जाते चले गए। इस तरह पहले 87 और बाद में 25 जगहाें पर अवैध कब्जे हाे गए।

कब्जे बचाने के लिए इन मंदिरों को बना रहे ढाल

माॅडल टाउन में ही रजवाहा के आसपास रहने वाले परिवाराें में माेहित, संजय व रामसिंह ने बताया कि रजवाहा की जमीन के साथ लगते मकान वालाें ने कब्जे किए हुए हैं। इन लाेगाें ने रास्ते तक बंद कर दिए। अपने अवैध कब्जे हटवाने के लिए सावन पार्क में राम मंदिर और जाटल राेड पर शिव मंदिर बना दिया। इनके समेत अन्य जगहाें पर भी धार्मिक स्थलों की आड़ मेें ये लाेग अपने अवैध कब्जे बचा रहे हैं।

डीसी ने नियुक्त किया ड्यूटी मजिस्ट्रेट

वन विभाग के वन राजिक अधिकारी जयकिशन बांगड़ ने बताया कि यह जमीन नहरी विभाग की है। वन विभाग भी जमीन कब्जामुक्त कराने में साथ रहेगा। डीसी सुशील सारवान ने कार्यवाही के लिए एटीपी नवीन कुमार काे ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है। कार्रवाई के लिए जल्दी ही तारीख तय हाेने की पूरी उम्मीद है।

नहरी विभाग ने काेर्ट केस जीता : एक्सईएन

नहरी विभाग और कुछ स्थानीय लाेगाें के बीच रजवाहा की जमीन पर हुए अवैध कब्जाें काे लेकर काेर्ट केस चल रहा था। नहरी विभागीय अधिकारियों का कहना है कि हम केस जीत चुके हैं। काेर्ट के आदेश पर ही जमीन कब्जामुक्त कराई जाएगी। सभी कब्जाधारियाें काे नाेटिस दिए जा चुके हैं। - सुरेश सैनी, एक्सईएन, नहरी विभाग।

खबरें और भी हैं...