पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • In View Of The Corona Epidemic, The Uttarakhand Government Imposed A Ban, Legal Action Would Be Taken If The Kanwar Reached

कांवड़ यात्रा पर रोक, पानीपत पुलिस ने जारी किए निर्देश:कोरोना महामारी को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने लगाई रोक, कांवड़ लेने पहुंचे तो होगी कानूनी कार्रवाई

पानीपत16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना महामारी को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने इस बार कांवड़ यात्रा को स्थगित किया है। - Dainik Bhaskar
कोरोना महामारी को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने इस बार कांवड़ यात्रा को स्थगित किया है।
  • UP से लगती सीमा पर तैनात की जाएगी पुलिस, धार्मिक संगठनों से की श्रद्धालुओं को मनाने की अपील

कोरोना महामारी को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने इस बार कांवड़ यात्रा को स्थगित किया है। जिसको लेकर पानीपत पुलिस ने बुधवार को निर्देश जारी किए हैं। SP शशांक कुमार सावन ने बताया कि इस बार जिले से कोई भी शिवभक्त कांवड़ लेने नहीं जाएगा। ऐसा करने पर कानूनी कार्रवाई के साथ भक्त को 14 दिन के क्वारंटाइन भी किया जा सकता है। उन्होंने सभी धार्मिक संगठन और गांव-कस्बे के वरिष्ठ लोगों से शिव भक्तों को कांवड़ यात्रा पर न जाने के लिए मनाने की अपील की है।

SP शशांक कुमार सावन ने बताया कि कांवड़ मेले 2021 के संबंध मे बीते दिनों उत्तराखंड पुलिस ने विडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से विशेष बैठक का आयोजन कर विचार विमर्श किया। जिसमें उत्तराखंड सरकार ने कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार कांवड़ मेले को स्थगित करने का निर्णय लिया है।

इसके बाद भी कोई भी शिव भक्त कांवड़ मेले के लिए उत्तराखंड मे प्रवेश करेगा तो उनके खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कानूनी कार्रवाई अमल मे लाई जाएगी। उत्तराखंड सरकार के निर्णय के मद्देनजर हरियाणा सरकार ने आदेश जारी किए हैं कि राज्य के किसी भी जिले से कोई भी शिव भक्त कांवड़ लेने के लिए न जाए। उत्तराखंड सरकार ने हरियाणा सरकार को इस संबंध में लोगों को जागरूक करने का भी आग्रह किया है।

कानूनी कार्रवाई के साथ होना पड़ सकता है क्वारंटाइन
​​​​​SP शशांक कुमार सावन ने कहा कि रोक के बावजूद यदि कोई व्यक्ति कांवड़ लेने के लिए जाता है तो कानूनी कार्रवाई के साथ 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन होना पड़ सकता है। जिले की विभिन्न कांवड़ समितियों, भक्त मंडलियों व धार्मिक संस्थाओं के पदाधिकारियों से आह्वान किया है कि वे अपने-अपने अनुयायियों को कांवड़ यात्रा न करने के लिए जागरुक करें।

सभी पर्यवेक्षण अधिकारी व थाना प्रबंधक को विशेष निर्देश दिए गए हैं कि कांवड़ यात्रा करने वालों पर निगरानी रखें। काॅलोनियों व गांव के वरिष्ठ व्यक्तियों के साथ बैठक कर बताए की वे श्रद्धालुओं को कांवड़ लेने के लिए हरिद्वार नहीं जाने के लिए प्रेरित करें। उत्तर-प्रदेश के साथ लगती सीमा पर लगाए गये सनौली नाका पर पुलिस कर्मियों को विशेष निर्देश दिए गये है कि उत्तर प्रदेश की तरफ जाने वाले सभी वाहनों पर निगरानी रखने के साथ ही नियमों का कड़ाई से पालना कराएं।