पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नीरज हत्याकांड:कोमल ने मांगा इंसाफ, जिस तरह मेरे पति की निर्मम हत्या की, उसी तरह भाइयों को फांसी पर लटकाया जाए

पानीपत5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नीरज और कोमल (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
नीरज और कोमल (फाइल फोटो)
  • चाकू के 16 वार से कई जगह से फेफड़े फटने और ज्यादा खून बहने से गई जान
  • बहन की लव मैरिज से खफा थे काेमल के भाई

झूठी शान के लिए बहन कोमल का सुहाग उजाड़ने वाले 2 भाइयों विजय उर्फ छोटा और पवन अब गिरफ्तारी के डर से बचते फिर रहे हैं। लव मैरिज को 38 दिन बाद दोनों ने शुक्रवार रात भावना चौक शिव मंदिर के पास कोमल के पति नीरज वर्मा की हत्या कर दी। आहत कोमल का रो-रोकर गला बैठ गया। उसने कहा कि जिस तरह मेरे पति की निर्मम हत्या की गई, उसकी तरह भाइयों को फांसी दी जाए।

मैं अपने पति को इंसाफ दिलाने के लिए कोर्ट में लड़ाई लड़ूंगी। पति की मौत के साथ ही अब मैंने उस घर से नाता तोड़ दिया है। अपने सास कोमल और ससुर गुलशन के साथ रहकर उनकी सेवा करूंगी। कोमल कहती है कि 3 साल से मेरे नीरज से प्रेम संबंध थे। घरवालों मुझे पीटते थे। इसलिए दो साल पहले घर छोड़कर हिसार चली गई। हिसार में शोरूम में जॉब करने लगी। मेरे लापता होने के बाद परिजनों ने कोई केस नहीं कराया था। डेढ़ साल बाद परिजनों काे पता चल गया था कि मैं हिसार में हूं। तब मां सुनीता और बड़ा भाई अजय फोन पर बात करने लगे थे।

कुछ समय बाद डॉक्यूमेंट खोने पर मैं घर आई तो छोटे भाई विजय ने मारपीट कर पैर में सरिया मारा। मां ने भी गाली गलौज की और घर से निकाल दिया। फिर मैंने और नीरज ने शादी करने का प्लान तय कर लिया। मैंने घरवालों को बताया तो वे राजी नहीं हुए। बोले शादी की तो पूरा परिवार सुसाइड कर लेगा। भाई अजय व विजय ने धमकी दी कि शादी की तो जान से मार देंगे। शनिवार को सिविल अस्पताल में नीरज के शव का पोस्टमार्टम किया। शरीर पर चाकू से हमले के करीब 16 निशान थे। कई जगह से फेफड़े फटने और ज्यादा खून बहने के कारण ही नीरज की मौत हुई है। परिजनाें ने पहले आरोपियों की गिरफ्तारी होने पर ही शव उठाने की मांग की। जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी का भरोसा मिलने पर परिजन शव ले गए। तहसील कैंप चौकी इंचार्ज जयबीर ने बताया कि आरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

आरोप- मां ने कहा, अभी एक मारा, तीन और मारेंगे

कोमल का आरोप है कि शनिवार सुबह वह तहसील कैंप चौकी के बाहर थी। तब उसकी मां सुनीता ने कहा कि अभी नीरज मरा है, अब उसके तीन भाइयों को मारेंगे। विजय भोला चौक और पवन जावा कॉलोनी में रहते हैं। विजय की पिता की मौत हाे चुकी है। 3 भाइयों में वह बीच का है उससे कोमल बड़ी है और एक बहन छोटी है।

रिकॉर्डिंग में खुलासा: विजय ने डेढ़ माह पहले ही ठान लिया था कि नीरज को खत्म करूंगा, कोमल को भी मारना चाहता था

  • विजय: मेरे पास बहन काेमल के फाेन आ रहे हैं
  • नीरज का भाई काकी: वाे क्या कह रही है
  • विजय: वाे मुझे कह रही है कि तू काकी को समझाने के लिए क्याें कह रहा है
  • काकी: मैंने नीरज से बात की है कि तू क्या चाहता है
  • विजय: गाली देते हुए अब जाे मर्जी हाे। अब ताे नाश हाेगा
  • काकी: यार अब मैं क्या कहूं
  • विजय: मेरे भाई काकी, नीरज ने पानी टपा दिया सिर तै..
  • काकी: मैं क्या करूं भाई, न तेरी बहन मान रही, न वाे
  • विजय: काेई बात नहीं, उन दाेनाें काे खत्म करेंगे, मेरे भाई काकी, कल काे मेरे घर के ऊपर बात न आए, अपने घर वालाें काे समझा लाे
  • काकी: चल ठीक है, यहां काेई नहीं आना चाहिए
  • विजय: घर काेई नहीं आता, हम बाहर की बाहर काम कर देंगे दाेनाें का।
  • काकी: भाई दाेनाें ही नहीं मानते क्या करूं
  • विजय: अब ताे उन्हें मारना ही हाेगा।
  • काकी: कब तक राेकेंगे, तेरी बहन कुछ कर ले भाई
  • विजय: हम ताे दाेनाें न मारण लाग रे हैं भाई
  • (यह ऑडियाे रिकॉर्डिंग नीरज के छाेटे भाई योगेश उर्फ काकी ने दी है। जोकि नीरज व कोमल की लव मैरिज से 6 दिन पहले यानी 18 नवंबर की है।)
खबरें और भी हैं...