पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दहेज में लिया 1 रुपया, हेलिकॉप्टर में लाया दुल्हन:मां का सपना पूरा करने को हेलिकॉप्टर से कराई विदा; परिवार ने पहले बेटे की शादी में भी नहीं लिया था दहेज

पानीपत2 महीने पहलेलेखक: कपिल कुमार
  • कॉपी लिंक
मनीष सैनी की शादी के दौरान की फोटो। - Dainik Bhaskar
मनीष सैनी की शादी के दौरान की फोटो।

बेटा-बेटी में फर्क कर गर्भ में ही बेटियों की हत्या करने और देहज लोभियों को पानीपत के एक परिवार ने आईना दिखाया है। पानीपत के एक व्यवसायी परिवार ने अपने दो बेटों की शादी में दहेज न लेने और बेटी की शादी में दहेज न देने के बाद मां की चाहत पर बिन दहेज की शादी में दुल्हन को हेलीकॉप्टर से घर लेकर आया है। हालांकि खराब मौसम के कारण दुल्हन की लेंडिंग एक दिन लेट हो गई।

पानीपत के वार्ड-11 निवासी श्रीराम कुमार पूर्व पार्षद और हैंडलूम व्यवसायी हैं। श्रीराम कुमार के बेटे मनीष सैनी की जींद के नरवाना निवासी मोनिका सैनी के साथ शादी हुई। इसमें खास बात यह रही कि शादी बिना दहेज के हुई और दुल्हा अपनी पत्नी को हेलीकॉप्टर से लेकर आया है।

दुल्हे के बड़े भाई दिनेश सैनी ने बताया कि वह तीन भाई और एक बहन हैं। दोनों बड़े भाइयाें ने भी बिना दहेज के ही शादी की थी। बहन सुनैना की शादी में भी केवल जरूरी सामान दिया गया था। उन्होंने शादी में न रुपए लिये और न ही दिये।

मां का सपना था कि उड़न खटोले में आए छोटी बहु
दिनेश सैनी ने बताया कि उनके परिवार में बेटा-बेटी में फर्क नहीं किया जाता है। इसलिए कभी दहेज वाली बात नहीं आई। मां राजसैनी की इच्छा थी कि छोटे बेटे की बहु हेलीकाप्टर में उनके घर आए। इसके लिए परिवार ने दिल्ली की कंपनी से संपर्क करके हेलीकॉप्टर किराए पर लिया।

खराब मौसम के कारण एक दिन करना पड़ा इंतजार
दिनेश सैनी ने बताया कि छोटे भाई की शादी 18 जुलाई को संपन्न हो गई थी, लेकिन मौसम खराब होने के कारण हेलीकॉप्टर से आने की अनुमति नहीं मिली। पहले जींद प्रशासन से हेलीकॉप्टर को उड़ान भरने और फिर पानीपत प्रशासन से लैंड कराने की प्रमिशन लेनी पड़ी। इसके बाद सेक्टर-24 में हेलीपैड बनाकर हेलीकॉप्टर लैंड कराया गया।

खबरें और भी हैं...