ऐसे ताे और बिगड़ेंगे हालात:ऑटो में भर रहे 17 से ज्यादा सवारी, झुंड में खेल रहे ताश,न ही मास्क लगा रहे और न ही साेशल डिस्टेंसिंग

पानीपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत. टूटती साेशल डिस्टेंसिंग... बिना मास्क लगाए सेक्टर-29 में एकसाथ बैठकर ताश खेलते लाेग। - Dainik Bhaskar
पानीपत. टूटती साेशल डिस्टेंसिंग... बिना मास्क लगाए सेक्टर-29 में एकसाथ बैठकर ताश खेलते लाेग।

देश में चाराें तरफ हाहाकार मचा हुआ है। अस्पतालाें में बेड नहीं है। जिंदगी बचाए रखने काे ऑक्सीजन नहीं है। काेराेना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। धारा-144 भी लागू है। नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है। मास्क पहनने और साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए लाेगाें काे जागरूक किया जा रहा है।

इसके बाद भी लाेगाें के अंदर काेविड-19 संक्रमण का खाैफ नहीं है। जीटी राेड, सनाैली राेड, सेक्टर-29 बाइपास राेड, असंध राेड, गाेहाना राेड आदि सड़काें पर सवारी ऑटाे में 6 की जगह 17 से ज्यादा लाेग सफर रहे हैं। सड़क किनारे झुंड लगाकर ताश खेल रहे हैं। इनमें से अधिकतर ने ताे मास्क तक नहीं लगाया है।

साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करना ताे दूर की बात है। निजी वाहन जैसे ईकाे, मार्शल, क्रूजर के चालक भी नहीं मान रहे हैं। वह भी वाहनाें में ठूंस-ठूंसकर सवारियाें काे भरकर ले जा रहे हैं। यह गाड़ियाें चाैक-चाैराहाें से हाेकर गुजरते हैं। नाके में तैनात पुलिसकर्मियाें काे भी यह नजर नहीं आ रहा है।

इसी कारण हालात दिन ब दिन बद से बदतर हाेते जा रहे हैं। आलम ये हाे गया है कि अब ताे श्मशानघाट पर अंतिम संस्कार के लिए भी वेटिंग लेनी पड़ रही है। डीएसपी सतीश वत्स का कहना है कि पुलिस काे सख्ती से निपटने के निर्देश दिए गए हैं। प्रतिदिन चालान काटे जा रहे हैं। अभी और सख्ती की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...