पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब शामली तक ही जाएंगी बसें:3 दिन में राेडवेज बसों से 900 से ज्यादा प्रवासी श्रमिक कर चुके हैं पलायन

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत. बस स्टैंड पर प्रवासी श्रमिक। लखनऊ जाने के टिकट लेते हुए। - Dainik Bhaskar
पानीपत. बस स्टैंड पर प्रवासी श्रमिक। लखनऊ जाने के टिकट लेते हुए।
  • लाॅकडाउन के बाद भी प्रवासी श्रमिकाें का नहीं रुक रहा पलायन, अभी लखनऊ तक जा रही थीं बसें

लाॅकडाउन के बाद भी प्रवासी श्रमिकाें का पलायन नहीं रुक रहा है। निजी बसाें के बंद हाेने के बाद प्रवासी श्रमिकाें ने राेडवेज बसाें की सहारा ले लिया है। पानीपत राेडवेज डिपाे से पिछले 3 दिन में करीब 900 प्रवासी श्रमिक लखनऊ और शामली गए हैं। राेडवेज मुख्यालय के आदेशानुसार अब राेडवेज बसाें काे लखनऊ नहीं भेजा जाएगा। बसें सिर्फ शामली तक ही जाएंगी।

शुक्रवार काे भी पानीपत राेडवेज डिपाे से दाे बसाें काे लखनऊ, 10 बसाें काे शामली, 8 बसाें काे अम्बाला की ओर रवाना किया गया। लखनऊ और शामली की ओर गई बसाें में अधिकतर यात्री प्रवासी श्रमिक थे। जबकि राेडवेज मुख्यालय ने तीन दिन पहले ही कम से कम राेडवेज बसाें के संचालन की अनुमति दी है। निजी बसाें के संचालन पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी है।

इस कारण प्रवासी श्रमिक राेडवेज बसाें से ही पलायन कर रहे हैं। इसके साथ ही रेलवे स्टेशन पर भी प्रवासी श्रमिक पहुंच रहे हैं लेकिन बिहार के लिए सीधे ट्रेन न हाेने के कारण वह दिल्ली तक ही जा रहे हैं। पानीपत डिपाे के ड्यूटी मैनेजर कपूर चंद ने बताया कि राेडवेज बसाें काे यात्रियाें की जरूरत के हिसाब से ही चलाया जाएगा। बसाें काे सिर्फ शामली तक ही भेजा जाएगा। लखनऊ से लाैटकर आने वाली बस खाली आ रही है। इस कारण विभाग काे नुकसान हाे रहा है।

खबरें और भी हैं...