पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Need To Handle Now: It Took Three And A Half Months To Get The First 200 Cases But It Didn't Take Even Two Weeks To Get 200 To 400 Cases.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना की रफ्तार तेज:अब संभलने की जरूरत : पहले 200 केस आने में साढ़े तीन माह लगे लेकिन केसाें की संख्या 200 से 400 हाेने में दाे सप्ताह भी नहीं लगे

पानीपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब नए संक्रमिताें की काेई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिल रही है, लोकल ही आ रहे केस
  • शहर के लगभग सभी सेक्टराें व सभी प्रमुख इलाकों में काेराेना पाॅजिटिव के मामले मिल रहे

(गाेविंद सैनी) जिले में अब काेराेना केसाें की संख्या 400 पार हाे गई है। काेराेना के आधे केस आने में जहां साढ़े तीन महीने से भी ज्यादा समय लगा था। यानी की 105 दिनाें में 200 केस मिले। इनमें 7 की माैत भी हुई। लेकिन अब केसाें की संख्या 200 से 400 हाेने में दाे सप्ताह भी नहीं लगे।

सिर्फ 12 दिनाें में 200 केस मिले हैं। हालांकि अच्छी बात यह है कि अंतिम 200 केसाें में किसी की जान अभी तक नहीं गई है। सभी केस स्वस्थ हाेकर लाैट रहे हैं। वहीं अब काेराेना से बचना है ताे अब ज्यादा सावधानी रखनी जरूरी हाे गई है। क्याेंकि शहर के लगभग सभी सेक्टराें, सभी प्रमुख एरियाओं व 25 से ज्यादा गांवाें में भी काेराेना पाॅजिटिव के मामले मिल चुके हैं। 

अब नए संक्रमिताें की काेई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिल रही है। ज्यादातर केस अब जिले से मिल रहे हैं। क्याेंकि अब सामूहिक संक्रमण फैल चुका है। अब हर दूसरे-तीसेर दिन काेराेना के केसाें मिलने का रिकाॅर्ड टूट रहा है। 

ऐसे समझिए 100 केसाें के हिसाब से आंकड़े, ऐसे बढ़ी कोरोना की रफ्तार
पहले 100 केस 91 दिनाें में मिले  कारण ज्यादा केस बाहर से आए 
जिले में पहला पाॅजिटिव केस 19 मार्च काे मिला। तब से लेकर 16 जून तक आंकड़ा 100 केसाें तक पहुंचा। इन 100 केस आने में तीन महीने लगे। इसका मुख्य कारण ये था कि ज्यादातर केस बाहर से आने वालाें के थे। 100 केसाें में 68 केसाें की ट्रैवल हिस्ट्री थी। इनमें 9 परिवाराें में काेराेना पहुंचा था। औसतन एक दिन में एक केस भी नहीं आया। इनमें 4 की माैत भी हुई।

दूसरे 100 केस 15 दिनाें में मिले 3 लोगों की कोरोना से मौत हुई
16 से लेकर 30 जून तक 100 केस मिले। औसतन राेजाना 7 से ज्यादा केस मिले। यानी सिर्फ 15 दिनाें में ही ये केस मिले। 45 केसाें की ट्रैवल हिस्ट्री निकली। इनमें 3 लाेगाें की काेराेना से माैत भी हुई। इन 100 केसाें का मुख्य कारण था कि 11 परिवाराें के 55 लाेगाें में काेराेना मिला। 38 केस ऐसे भी थे, जिनमें काेराेना का काेई लक्षण नहीं मिला। 

तीसरे 100 सिर्फ 8 दिनाें में  सामूहिक केस बढ़े 
1 जुलाई से 8 जुलाई के बीच में ही यानी 8 दिनाें में 109 केस मिले। यानी औसतन 12 से भी ज्यादा केस मिले। इनमें बमुश्किल 25 केसाें की ट्रैवल हिस्ट्री मिली है। शेष यहीं से हैं। इन केसाें की मुख्य कारण ये था कि सामूहिक संक्रमण के 18 परिवाराें के 58 लाेगाें काे काेराेना मिला।

अंतिम 100 केस 5 दिनाें में : 300 से 400 केस बढ़े
अंतिम 100 केस अब तक के सबसे कम दिनाें में मिलने वाले केस हाे गए हैं। केसाें की संख्या 300 से 400 हाेने में सिर्फ 5 दिन ही लगे। यानी अब 20 की औसत से केस मिले हैं। इनमें एक-एक परिवार से पड़ाेसी व मिलने वाले तक संक्रमित मिले। 6 परिवार ऐसे मिले, जिनसे 35 केस जुड़े हुए हैं। 

प्रत्येक व्यक्ति नियमों का करें पालन
सीएमओ डाॅ. संतलाल वर्मा ने कहा कि जब से काेराेना आया है या यूं कहें कि पिछले साढ़े तीन महीने की सीख यही है कि इस बीमारी से लड़ने के लिए हमें साेशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन का पूरा ध्यान रखना हाेगा। जहां भी जाएं मास्क जरूर लगाएं। प्रत्येक व्यक्ति को नियमों का पालन करना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser