पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • OPD Remained Closed In Private Hospitals For 6 Hours In Protest Against The Views Of Baba Ramdev, Patients Remained Upset

पानीपत में प्राइवेट डॉक्टरों की हड़ताल:बाबा रामदेव के विचारों के विरोध में निजी अस्पतालों में 6 घंटे बंद रही OPD, परेशान रहे मरीज

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
DC को ज्ञापन सौंपने जाते डॉक्टर। - Dainik Bhaskar
DC को ज्ञापन सौंपने जाते डॉक्टर।
  • शहर के 130 निजी अस्पतालों के 300 डॉक्टरों ने की हड़ताल, DC के माध्यम से PM को प्रेषित किया ज्ञापन

ऐलोपैथिक इलाज को लेकर योग गुरु बाबा रामदेव के विचारों के खिलाफ IMA के आह्वान पर शुक्रवार को जिले के निजी अस्पतालों में सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक OPD बंद रही। इस दौरान शहर स्थित निजी अस्पतालों में से मरीजों को निराश लौटना पड़ा। हालांकि इमरजेंसी सेवाएं चालू रहने से मरीजों को राहत मिली। वहीं, जिले के 130 निजी अस्पतालों के डॉक्टरों ने हड़ताल करके DC के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया।

निजी अस्पताल में लगा हड़ताल का नोटिस।
निजी अस्पताल में लगा हड़ताल का नोटिस।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष डॉ. वेदप्रकाश ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान 1500 से अधिक डॉक्टरों ने अपनी जान गंवाई है। सभी ने मानव जाति को बचाने के लिए योगदान दिया। इसके बाद भी डॉक्टरों को शारीरिक और मौखिक हिंसा का सामना करना पड़ रहा है। शहर के डॉक्टर स्काइलार्क होटल पर इकट्‌ठा होने के बाद लघु सचिवालय पहुंचे। जहां, DC सुशील सारवान को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

130 निजी अस्पतालों में रही हड़ताल
जिले में करीब 130 निजी अस्पताल हैं। जिनमें 330 से अधिक डॉक्टर कार्यरत हैं। हड़ताल के कारण सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक मरीज परेशान रहे। सनौली रोड स्थित पवनांजलि अस्पताल में दोपहर 12 बजे तक 50 से अधिक मरीजों को वापस भेजा गया। पास स्थित एपेक्स अस्पताल से दोपहर 12 बजे तक करीब 15 मरीजों को निराशा हाथ लगी। कुछ दूरी पर स्थित IBM अस्पताल से भी 20 से अधिक मरीजों को बिना इलाज के लौटना पड़ा।

मशीन में हाथ आने के बाद निजी अस्पताल में पहुंचा राजू, जहां से उसे बिना इलाज लौटना पड़ा।
मशीन में हाथ आने के बाद निजी अस्पताल में पहुंचा राजू, जहां से उसे बिना इलाज लौटना पड़ा।

फैक्ट्री श्रमिक को बिना इलाज लौटाया
बबैल रोड स्थित एक फैक्ट्री में काम करने वाला राजू पवानांजिल अस्पताल पहुंचा। राजू ने बताया कि काम करते समय मशीन में हाथ आने से गहरी चोट लग गई। साथी उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल ले गए। हड़ताल के कारण कई अस्पतालों में इलाज न होने पर उसे सिविल अस्पताल ले जाया गया।

सिविल अस्पताल की सामान्य OPD के बाहर लगी मरीजों की लाइन।
सिविल अस्पताल की सामान्य OPD के बाहर लगी मरीजों की लाइन।

सिविल अस्पताल में सामान्य रही OPD
निजी अस्पतालों में सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक हड़ताल होने के कारण सिविल अस्पताल में मरीजों की भीड़ अधिक होने का अनुमान था, लेकिन सिविल अस्पताल में मरीजों की संख्या सामान्य रही। केवल फिजिशियन डॉक्टरों के पास मरीजाें की भीड़ दिखी।