गर्मी से राहत, अन्नदाता की आफत:पानीपत में सुबह के समय शांत रही हवा, आसमान में छाए बादल और हल्की बारिश, बढ़ी किसानों की चिंता

पानीपत9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत में सुबह के समय आसमान म� - Dainik Bhaskar
पानीपत में सुबह के समय आसमान म�
  • शुक्रवार शाम को 40KM की रफ्तार से पहले धूल भरी आंधी और फिर हुई थी बारिश
  • अनाज मंडी में खुले में पड़ा है लाखों क्विंटल गेहूं, खेतों में भी चल रही है फसल की कटाई

पानीपत में शनिवार सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे। बूंदाबांदी भी शुरू हुई। हांलाकि हवाएं शांत रही। बिगड़े मौसम ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। अनाज मंडी में लाखों क्विंटल गेहूं खुले आसमान के नीचे पड़ा है। तेज हवा और बारिश के कारण फसल की कटाई भी रुक गई है। मौसम वैज्ञानिकों ने 20 अप्रैल तक ऐसा ही मौसम रहने की संभावना जताई है। शनिवार को सुबह 11 बजे तक अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रहेगा।

पानीपत समेत प्रदेश के कई जिलों में शुक्रवार शाम को धूल भरी आंधी आई थी। आंधी के बाद रुक-रुककर बारिश हुई। शनिवार सुबह से आसमान में बादल छाए रहे। कुछ देर के लिए बूंदाबांदी भी हुई। हालांकि हवाओं की रफ्तार 40 किलोमीटर से 6 किलोमीटर प्रतिघंटा पर आ गई।

बीते तीन दिनों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। शुक्रवार शाम की आंधी और बारिश के बाद तापमान में 9 डिग्री तक की गिरावट आई है। बारिश ने लोगों को लू से भी राहत दी है, लेकिन अन्नदाता की चिंता बढ़ा दी।

पानीपत में अनाज मंडी समेत गेहूं खरीद के लिए 12 केंद्र बनाए गए हैं। सभी केंद्रों पर लाखों क्विंटल गेहूं खुले आसमान के नीचे पड़ा है। उठान न होने के कारण गेहूं के बोरे भी ऐसे ही रखे हुए हैं। इसके साथ जिलेभर में गेहूं की फसल की कटाई चल रही है। आंधी और बारिश ने फसल की कटाई रोक दी है।

20 अप्रैल तक ऐसा ही बना रहेगा मौसम
मौसम वैज्ञानिक डॉ. DP दुबे ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के मूव होने के कारण 20 अप्रैल तक आसमान में बादल छाने के साथ तेज हवा और बारिश के आसार बने हुए हैं। इससे दिन और रात के तापमान में गिरावट आएगी।