पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

10वीं का रिजल्ट घोषित, हर बच्चा खुश:पानीपत के 16101 हुए पास, इंटरनल असेसमेंट के नंबर न मिलने के कारण 53 बच्चों का होल्ड किया गया रिजल्ट

पानीपत8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
10वीं में पास बच्चों को मिठाई खिलाते शिक्षक। - Dainik Bhaskar
10वीं में पास बच्चों को मिठाई खिलाते शिक्षक।
  • कोरोना के कारण भिवानी बोर्ड ने बिना परीक्षा लिये किया रिजल्ट जारी

कोरोना महामारी के कारण हरियाणा विद्यालय बोर्ड ने बिना परीक्षा के ही शुक्रवार को 10वीं का रिजल्ट जारी किया। जिसमें पानीपत के 15626 बच्चों ने रेग्यूलर और 475 बच्चों ने प्राइवेट परीक्षा पास की है। हालांकि बोर्ड ने ऐसे 53 बच्चों का परीक्षा परिणाम रोक लिया है, जिनके इंटरनल असेसमेंट के नंबर बोर्ड को नहीं मिले।

कोरोना महामारी के कारण बोर्ड परीक्षार्थियों को लाभ मिला है। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की ओर से शुक्रवार को 10वीं का रिजल्ट जारी किया गया। इस बार परीक्षा न होने के कारण इंटरनल असेसमेंट के आधार पर विद्यार्थियों को अंक दिए गए हैं।

इस बार पानीपत के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के कुल 15626 बच्चे रेग्यूलर और 475 बच्चे प्राइवेट रूप से 10वीं की परीक्षा में शामिल होने थे। मगर कोरोना महामारी के कारण सरकार ने परीक्षा का आयोजन नहीं किया। 10वीं के बच्चों को इंटरनल असेसमेंट के आधार पर अंक प्रदान कर दिए गए।

इंटरनल असेसमेंट नियम के कारण इस बार कोई टॉपर नहीं बन पाया, लेकिन कोई बच्चा फेल भी नहीं किया गया। हालांकि शिक्षा बोर्ड ने पानीपत के 53 बच्चों का रिजल्ट रोका है। विभाग को इन बच्चों के इंटरनल असेसमेंट के नंबर प्राप्त नहीं हुए हैं।

इस आधार पर मिले नंबर
बाेर्ड ने इस बार बच्चों को स्कूलों की इंटरनल असेसमेंट और प्रैक्टिकल में मिले नंबरों के आधार पर पास किया है। 20 नंबर के इंटरनल असेसमेंट और 20 नंबर का प्रैक्टिकल रहा। इसके अलावा 60 नंबर थ्याैरी के माने गए। अगर बच्चे को इंटरनल असेसमेंट और प्रैक्टिकल में पूरे नंबर दे देते हैं तो उसे थ्योरी में भी पूरे ही नंबर दे दिए। इस हिसाब से थ्याैरी के नंबर इंटरनल असेसमेंट और प्रैक्टिकल के नंबरों के अनुपात पर ही आधारित रहे।