पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इनकी भी सुनो सरकार:रोजगार के लिए 69 दिनों से दे रहे धरना, ब्याज पर रुपए लेकर पाल रहे पेट

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सनौली रोड पर छोटी सब्जी मंडी की मांग को लेकर विधायक के ऑफिस के बाहर धरना देते सब्जी विक्रेता। - Dainik Bhaskar
सनौली रोड पर छोटी सब्जी मंडी की मांग को लेकर विधायक के ऑफिस के बाहर धरना देते सब्जी विक्रेता।
  • छोटी सब्जी मंडी की मांग को लेकर विक्रेता बीते 69 दिनों से दे रहे हैं धरना
  • एकमात्र रोजगार छिना, अब पेट भरने तक के लिए फैलानी पड़ रही झोली

सनौली रोड से सब्जी मंडी के शिफ्ट करने से सैकड़ों लोगों का रोजगार छिन गया है। अब सनौली रोड पर ही छोटी सब्जी मंडी की मांग को लेकर बीते 69 दिनों ने सब्जी विक्रेता दिन-रात धरना दे रहे हैं। महिला-पुरुष विक्रेताओं ने बुधवार से शहरी विधायक प्रमोद विज के GT रोड स्थित ऑफिस के सामने धरना शुरू किया है। एकमात्र रोजगार छिनने से विक्रेताओं को ब्याज पर रुपये लेकर और वाहन बेचकर परिवार का पेट पालना पड़ रहा है। प्रशासन और जनप्रतिनिधियों द्वारा उनकी बात न सुनने से रोष पनप रहा है। फड मासाखोर समिति के प्रधान प्रेम ने अपने साले से रुपये उधार लिये तो पदाधिकारी संसार सिंह को 35 हजार रुपये में अपनी बाइक बेचनी पड़ी।

बहु और पोता-पोती को खिलाने के लिए ब्याज पर लिए रुपये

पानीपत में सब्जी बेचने वाली बुजुर्ग महिला बाला।
पानीपत में सब्जी बेचने वाली बुजुर्ग महिला बाला।

दलबीर कॉलोनी की बाला ने बताया कि वह विधवा हैं और बीमारी के कारण बेटे की भी मौत हो चुकी है। बहु और पोता-पोती को पालने की जिम्मेदारी उन पर आ गई है। सब्जी मंडी में फड़ लगाकर वह परिवार को पाल रही थी। अब प्रशासन ने मंडी हटा दी। बच्चों का पेट पालने के लिए 5 हजार रुपये ब्याज पर लिए और 10 हजार आढ़ती से ले चुकी हैं।

शादी के बाद बच्चे अलग हुए, गुजारे का एकमात्र सहारा मंडी भी छीन ली

उझा गांव की बिमला भी पानीपत में सब्जी बेचती हैं।
उझा गांव की बिमला भी पानीपत में सब्जी बेचती हैं।

गांव उझा की बिमला ने बताया कि उनका पति नहीं है। शादी के बाद बच्चे अलग हो गए। खाने तक का संकट था। गुजारा करने के लिए मंडी में सब्जी बेचने लगीं। अब मंडी बंद होने पर 20 हजार रुपये आढ़ती और 5 हजार रुपये उधार ले चुकी हैं।

छोटे बच्चों का पेट भरने और पढ़ाने के लिए सब्जी बेचती हैं सुनीता।
छोटे बच्चों का पेट भरने और पढ़ाने के लिए सब्जी बेचती हैं सुनीता।

बच्चे छोटे, पति है नहीं, रोजगार भी नहीं रहा

सैनी मोहल्ले की सुनीता ने बताया कि पति की मौत हो चुकी है। छोटे बच्चों का पेट भरने और पढ़ाने के लिए वह खुद मंडी में सब्जी बेचने लगी। परिवार ठीक चल रहा था कि प्रशासन ने मंडी बंद करा दी। अब बच्चों का पेट भरने के लिए 10% ब्याज पर 15 हजार रुपए लिए हैं।

यूपी की किरण अपने पति का इलाज कराने के लिए सब्जी बेचती हैं।
यूपी की किरण अपने पति का इलाज कराने के लिए सब्जी बेचती हैं।

बीमार पति की दवाई और बच्चों की जिम्मेदारी

मूलरूप से UP की रहने वाली किरण सब्जी मंडी में ही रहती है। पति संजय के फेफडे खराब हैं। उसके इलाज के लिए 20 हजार का लोन लिया था। लोन उतारने के लिए वह मंडी में पॉलिथीन बेचने लगी। अब मंडी बंद हो गई तो उसका काम भी बंद हो गया। पति को दवाई नहीं मिली रही, छोटे दो बच्चों को खाना नहीं मिल रहा। साथी सब्जी विक्रेताओं ने 3500 रुपए की मदद की।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें