पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धीमी गति:23 दिन बाद भी नहीं बना हवा से ऑक्सीजन बनाने वाला प्लांट

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट बनाने के लिए बनाया गया शेड। - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट बनाने के लिए बनाया गया शेड।

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा सिविल अस्पताल में हवा से ऑक्सीजन बनाने वाले प्लांट काे बनाने का काम बहुुत धीमी गति से चल रहा है। जब पीएम नरेंद्र माेदी ने घाेषणा कि ताे 10 दिनाें के अंदर तैयार करने की बात कही गई थी, लेकिन 23 दिन बीत जाने के बाद अभी तक ऑक्सीजन बनाने वाले प्लांट में सिर्फ शेड बनकर तैयार हुई है। पेंट का काम पूरा होने वाला है।

फाउंडेशन का काम भी पूरा हो गया है। अब कोपको कंपनी को मशीन लगानी है। इसका सभी काे इंतजार है। वाे कब लगेगी, इस बारे में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। इसके चालू होते अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी। गैस सिलेंडर पर निर्भरता कम हो जाएगी। अस्पताल में लिक्विड टैंक पहले से बना है। कंपनी द्वारा जेनरेटर और कंप्रेशर लगाने के बाद प्लांट चालू हो जाएगा।

मशीन केमिकल के माध्यम से हवा से ऑक्सीजन गैस सोखकर उसे ऋणात्मक तापमान पर द्रव में परिवर्तित करेगी। उसे ऑक्सीजन टैंक में जमा किया जाएगा। पाइप के जरिए मरीजों को उनकी जरूरत के अनुसार बेड पर सप्लाई दी जाएगी। मशीन की क्षमता प्रति घंटे 1 हजार लीटर ऑक्सीजन तैयार करने की होगी। इसके अलावा समालखा अस्पताल में भी 200 लीटर का प्लांट इसी कंपनी द्वारा बनाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...