खेती - किसानी:राष्ट्रपति से सम्मानित किसान ने ताइवान के खरबूजे उगाए, मिलेगा सेब से दोगुना फायदा

पानीपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कैंसर, हाइपरटेंशन, मधुमेह, दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए है लाभदायक
  • मीठा इतना है कि छिलका और बीज भी खाए जा सकते हैं

राष्ट्रपति से सम्मानित गांव सिवाह के किसान रामप्रताप शर्मा ने इस बार सेब से दाेगुना ज्यादा फायदेमंद ताइवान के बीज से खरबूजे की खेती शुरू की है। इसे ग्रीन एपल मेलन के नाम जाना जाता है। पहली बार में उन्हाेंने इस नस्ल के खरबूजे के 500 पाैधे लगाए हैं।

यह खरबूजा इतना मीठा है कि इसका छिलके और बीज काे भी खाया जा सकता है। किसान का दावा है कि यह कैंसर, हाइपरटेंशन, मधुमेह और दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए लाभदायक है। रामप्रताप शर्मा ने बताया कि उन्हें नाॅन यू कंपनी की तरफ से ग्रीन एपल मेलन के बीज दिए गए थे।

दिसंबर में उन्हाेंने 500 पाैधे लगाए थे। यह फसल अब तैयार हाे चुकी है। ताेड़े जाने के 10 दिन बाद भी यह फल खराब नहीं हाेता है। बताया कि इस वक्त यह खरबूजा बाजार में 80 रुपए किलाे के भाव से बिक रहा है। दिन ब दिन इसकी बाजार में मांग बढ़ती जा रही है।

पाचन क्रिया को सही रखने में मददगार होते हैं

रामप्रताप शर्मा ने बताया कि एक सेब खा लाे या आधा खरबूजा खा लाे। दाेनाें बराबर ही शरीर काे फायदा देंगे। सेब जैसे तत्व इस नस्ल के खरबूजे में पाए जाते हैं। जो शरीर में नई कोशिकाओं के निर्माण को प्रोत्साहित करते हैं। इसमें पेक्टिन जैसे फायदेमंद फाइबर्स भी हैं। यह दाताें काे स्वस्थ रखता है। बढ़ती उम्र की वजह से मस्ति‍ष्क पर पड़ने वाले प्रभाव को दूर करता है। इसमें सेब की तरह ही डाइट्री फाइबर्स भी पाए जाते हैं जाे पाचन क्रिया को सही रखने में मददगार होते हैं।

खबरें और भी हैं...