किसान आंदोलन:पेट्रोल पंप, सब्जी मंडी रहेंगी बंद, बाजारों पर असमंजस

पानीपत2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत के इंसार बाजार में सजीं दुकानें। - Dainik Bhaskar
पानीपत के इंसार बाजार में सजीं दुकानें।
  • यात्री मिलने पर बसों के संचालन का किया गया दावा
  • भारत बंद के कारण जरूरी सेवाएं भी होंगी प्रभावित

किसान आंदोलन के समर्थन में पेट्रोलियम वेलफेयर एसोसिएशन ने भारत बंद का समर्थन किया है। जिले के सभी पेट्रोल पंप सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक बंद रहेंगे। सब्जी मंडी में भी बंद का ऐलान किया गया है। रोडवेज निगम के अधिकारियों ने यात्री मिलने पर बसों के संचालन का दावा किया है। मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे। बाजारों के खुलने या बंद रहने पर देर शाम तक व्यापारी एकमत नहीं हो सके।

कृषि बिलों के विरोध में किसान संगठनों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है। बंद को सफल बनाने के लिए सोमवार को किसान नेताओं ने विभिन्न विभागों के पदाधिकारियों से मिलकर बंद का समर्थन करने का आह्वान किया। जिलों पेट्रोलियम वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदान संजीव चौधरी ने बताया कि वह भारत बंद के समर्थन में हैं। इसलिए, मंगलवार को सुबह 8 से शाम 3 बजे तक पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। वहीं, सरकारी पेट्रोल पंप खुले रहेंगे। जिले में 120 पेट्रोल पंप हैं। जिनमें से शहर में मात्र तीन पेट्रोल पंप ही सरकारी हैं।

रोडवेज के DI कपूर चंद ने बताया कि फिलहाल राज्य से बाहर चंडीगढ़ और उत्तराखंड के लिए बसों का संचालन किया जा रहा है। मंगलवार को भारत बंद के दौरान यात्रियों के मिलने पर बसों का संचालन किया जाएगा। उन्होंने यात्रियों को परेशानी न होने देने का दावा किया है। स्टेशन अधीक्षक धीरज कपूर ने बताया कि भारत बंद को लेकर कोई ट्रेन प्रभावित नहीं है। रोजाना की तरह की निर्धारित समय पर ट्रेनों का संचालन किया जाएगा।

सब्जी मंडी प्रधान ने बताया कि किसान आंदोलन को लेकर भारत बंद का पूर्ण समर्थन किया गया है। मंगलवार को सब्जी मंडी बंद रहेगी। इसके लिए सोमवार को ही मंडी बंद रहने का ऐलान करा दिया गया है। बाजार मंडल प्रधान सुनील अरोड़ा ने बताया कि दुकानें बंद रखने के लिए किसान नेताओं ने उनसे संपर्क किया है। बाजार खोलने और बंद रखने को लेकर सभी प्रधानों से बातचीत की जा रही है। एकमत होने पर फैसला लिया जाएगा।

पानीपत कैमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के प्रधान करतार सिंह मक्कड़ ने बताया कि दवाइयां जरूरी वस्तुओं में शामिल हैं। वैसे भी कोरोना का दौर चल रहा है, इसलिए उन्होंने मेडिकल स्टोर खोलने का निर्णय लिया है।